न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

भारत आना अच्‍छा लगता है : रूसी चीयर लीडर्स

62

Lohardaga :  भारत हमारे दिल में बसता है इसलिए हमें यहां आना अच्छा लगता है. सच कहूं तो हर रूसी, हर कजाक भारत को पसंद करता है. कभी सोवियत रूस का हिस्सा रहे कजाकिस्तान से आई चीयर लीडर्स ने यह बात कही. लोहरदगा मे चल रहे शिव प्रसाद साहू मेमोरियल नेशनल इन्विटेशन टी-20 क्रिकेट प्रतियोगिता में मनोरंजन का तड़का लगाने चीयर लीडर्स रूस और कजाकिस्तान आई हैं. भारत के बारे में कम शब्दों में बड़ी बात इन्होंने कहीं.

हिंदी फिल्मों के कई गानों के मुखडे इनकी जुबान पर

SMILE

चीयर लीडर गोल ने कहा कि भारत एक खूबसूरत देश है और यहां के लोग बहुत अच्छे हैं. हम बचपन से भारतीय फिल्में देख कर बड़े हुए. फर्क सिर्फ इतना था कि वह फिल्में हमारी अपनी भाषा में डब हुआ करती हैं. पुराने जमाने के ग्रेट शोमैन राज कपूर से लेकर आज के सलमान, शाहरुख, गोविंदा, अनिल कपूर और ऐश्वर्या राय इनके पसंदीदा फिल्म एक्टर हैं. गोल के साथ जुगलबंदी कर रही चीयरलीडर बाक-माय नेम इज लखन-गाना शुरू करती हैं  और दोनों साथ गाने लगती हैं. हिंदी फिल्मों के कई गानों के मुखडे इनकी जुबान पर हैं. इसने इन हिंदी सीखने समझने को प्रेरित किया. बाक हिंदी में कहती हैं कि उन्हें हिंदी “थोड़ा थोड़ा” आती है. कजाक में ‘संभावना’को ममकिन कहते हैं, ‘नहीं’ को रुक… हिंदी के कई शब्द मिलते-जुलते लगते हैं. यही  वजह है कि भारत में बहुत कुछ अपना सा लगता है.

हमारे देश के बहुत से लोग भी यहां रहते हैं

बात सिर्फ प्रोफेशनलिज्म की नहीं है. भारत में आकर चीयरलीडर का जॉब करने में काफी अच्छा लगता है. इस देश में काफी समय बिताया है और आगे भी आते रहने की इच्छा है. हमारे देश के बहुत से लोग भी यहां रहते हैं, मिलते जुलते हैं. पूर्व सोवियत संघ के जमाने से ही इंडिया से हमारा सांस्कृतिक, राजनीतिक और वैचारिक रिश्ता मजबूत रहा है. इसी कड़ी को कायम रखने और मजबूत करने में हमारा भी छोटा सा योगदान समझिए.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
%d bloggers like this: