BusinessLead NewsNational

GOOD NEWS : टाटा स्टील के कर्मी संतानों और आश्रितों को ट्रांसफर कर सकेंगे नौकरी, जानें कौन ले सकते हैं लाभ

दो स्कीम एक नवंबर को होंगी लागू, इन दोनों को सुनहरे भविष्य की योजना का नाम दिया

New Delhi : टाटा स्टील के कर्मचारियों के परिजनों के लिए खुशखबरी है. यह खबर खासकर उन कर्मियों के लिए है जो एक निश्चित अवधि तक कंपनी में सेवा देने के बाद नौकरी अपनी संतानों या आश्रितों को देना चाहते हैं. इसके लिए टाटा स्टील कंपनी जॉब फॉर जॉब स्कीम ला रही है.

इसके साथ ही कंपनी समय से पहले सेवानिवृत्ति लेनेवालों को आकर्षक लाभ प्रदान करने की स्कीम इएसएस (अर्ली सेपरेशन स्कीम) भी लांच कर रही है. इन दोनों स्कीम को मिलाकर कंपनी ने इसे सुनहरे भविष्य की योजना का नाम दिया है इसे आगामी एक नवंबर से लागू किया जायेगा. कंपनी के कर्मचारी एक साथ दोनों स्कीम का भी लाभ ले सकते हैं. कंपनी इसके लिए कामगारों के बीच सर्कुलर प्रसारित कर रही है.

advt

इसे भी पढ़ें : Ranchi के विकास के लिए 1200 एकड़ जमीन आवंटित, लग रहे हैं उद्योग, पावर प्लांट व ग्रिड का चल रहा निर्माण

इनको मिलेगी नौकरी

टाटा स्टील के आधिकारिक सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, जॉब फॉर जॉब स्कीम के तहत कर्मचारी अपने पुत्र, पुत्री, दामाद या किसी अन्य को आश्रित को नामित कर अपनी नौकरी हस्तांतरित कर सकेंगे. आश्रित की बहाली पहले प्रशिक्षु के तौर पर होगी. प्रशिक्षण के बाद उन्हें एक परीक्षा देनी होगी. इसके बाद ही उनकी सेवा स्थायी की जायेगी. परीक्षा में असफल आश्रित को नौकरी से वंचित होना पड़ सकता है.

नौकरी ट्रांसफर करने के लिए न्यूनतम 52 वर्ष

जानकारी हो कि कंपनी के साढ़े बारह हजार स्थायी कर्मियों में से 3500 कर्मी ऐसे हैं, जिनकी उम्र 52 साल से अधिक है. जॉब फॉर जॉब स्कीम के तहत आश्रित को अपनी नौकरी ट्रांसफर करने के लिए न्यूनतम 52 वर्ष की उम्र अनिवार्य होगी.

इसे भी पढ़ें : पिता को दोस्त की पत्नी से प्यार करना पड़ा महंगा, बेटे ने दोनों को मौत के घाट उतारा

ये है अर्ली सेपरेशन स्कीम

वहीं अर्ली सेपरेशन स्कीम यानी इएसएस के तहत वैसे कर्मी लाभान्वित हो सकेंगे, जिनकी उम्र कम से कम 45 वर्ष है. इएसएस लेने वाले कर्मचारियों को सेवानिवृत्ति की आयु सीमा तक बेसिक-डीए की रकम, मेडिकल सुविधा इएसएस लेने के छह साल बाद तक या 58 साल की उम्र तक, जो पहले की अवधि होगी, क्वार्टर की सुविधा मिलती रहेगी.

इसे भी पढ़ें : उलीडीह रामनगर में सीढ़ी से गिरकर महिला का सिर फूटा, एमजीएम में कराया भर्ती

दोनों स्कीमों के लिए न्यूनतम उम्र की सीमा 50 वर्ष

दोनों स्कीम का एक साथ लाभ लेने वाले कर्मियों के न्यूनतम उम्र की सीमा 50 वर्ष तय की गयी है. किसी कर्मचारी की उम्र 50 वर्ष है इएसएस जॉब फॉर जॉब दोनों का लाभ चाहता है, तो उसे आवेदन करते समय फॉर्म में स्विच ओवर के ऑप्शन को टिक करना होगा. ऐसे कर्मचारी को 55 वर्ष तक वर्तमान बेसिक-डीए की कुल राशि मिलती रहेगी. 55 वर्ष के बाद नामित आश्रित जॉब फॉर जॉब के लिए टाटा स्टील में आवेदन कर सकेगा. कर्मचारी को 60 वर्ष की उम्र यानी सेवानिवृत्ति तक 13 हजार प्रतिमाह पेंशन मिलेगी.

इसे भी पढ़ें : रांची के 305 पंचायतों में 13.57 लाख वोटर करेंगे प्रत्याशियों के भाग्य का फैसला

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: