Education & CareerJharkhandRanchi

GOOD NEWS: अगर आप हैं क्लैट कैंडिडेट तो आईआईएम रोहतक दे रहा बिजनेस मैनेजमेंट के साथ लीगल स्टडी का मौका 

Ranchi : अगर आप क्लैट उम्मीदवार हैं. इस साल के टेस्ट में शामिल होने जा रहे हैं तो आईआईएम रोहतक आपके लिए बेहतर अवसर दे रहा है. यह संस्थान क्लैट आस्पिरेंट्स को कानून की पढाई के साथ साथ बिजनेस के गुर भी सिखायेगा. इसी को देखते हुए इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट रोहतक ने एक इंटिग्रेटेड प्रोग्राम इन लॉ कोर्स की शुरुआत की है. यह पांच साल का इंटीग्रेटेड प्रोग्राम है जिसे 12 वीं के बाद किया जा सकता है. इस कोर्स में एडमिशन के लिए रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया की शुरुआत की जा चुकी है.

लेटरल एंट्री का नहीं कोई प्रावधान:

बताते चलें कि इस प्रोग्राम में एडमिशन लेने वाले को बिज़नेस मैनेजमेंट व लीगल एजुकेशन दोनों की पढाई करायी जाएगी. वहीं इस कोर्स के स्टूडेंट्स को इंटर्नशिप करने का अवसर भी मिलेगा. इस कोर्स को पूरा करने वाले स्टूडेंट्स बीबीए-एलएलबी की डिग्री लेकर निकलेंगे.

ram janam hospital
Catalyst IAS

इस कोर्स की महत्वपूर्ण बात यह है कि पांच के दौरान बिच में कोर्स को नहीं छोड़ा जा सकेगा. आधिकारिक सूचना के अनुसार यह प्योर कोर्स है. इसमें लेटरल एंट्री का कोई प्रावधान नहीं है. न ही विद्यार्थी इंटेग्रेटेड प्रोग्राम के तहत कोर्स को बीच में छोड़ सकते हैं.

The Royal’s
Sanjeevani
Pitambara
Pushpanjali

इसे भी पढ़ें:अदालत से ऑक्सीजन की कमी के कारण मरने वाले लोगों के लिए मुआवजे का निर्देश देने का अनुरोध

नामांकन के लिए क्लैट जरूरी:

स्टूडेंट्स का इस कोर्स में नामांकन हेतु कुछ मापदण्ड तैयार किये गये हैं. स्टूडेंट्स का 12वीं पास होना जरुरी है. जनरल कैटेगरी के स्टूडेंट्स का 12 वीं में  न्यूनतम 60 फीसदी अंक होना आवश्यक है. आरक्षित श्रेणी के स्टूडेंट्स के लिए 55 फीसदी अंक जरूरी किया गया है. वहीं एडमिशन को इच्छुक स्टूडेंट्स की उम्र 31 जुलाई 2021 तक 20 वर्ष से अधिक नहीं होनी चाहिए.

संस्थान के द्वारा स्टूडेंट्स के नामों का चयन क्लैट-2021 के परीक्षा के अंकों के आधार पर किया जायेगा. फाइनल सेलेक्शन क्लैट 2021 के परिणाम, एकेडेमिक परफॉर्मेंस व पर्सनल इंटरव्यू  के आधार पर तय किया जायेगा. चयन प्रक्रिया में 45 फीसदी क्लैट के अंक, 40 फीसदी एकेडेमिक परफॉरमेंस व 25 फीसदी पर्सनल इंटरव्यू को ध्यान में रखते हुए दिया जायेगा.

इसे भी पढ़ें:हौसले को दाद: 10 दिनों में 87 वर्षीय बुजुर्ग समेत परिवार के 26 सदस्य हुए संक्रमित, घर में रहकर सभी ने दी मात

Related Articles

Back to top button