Khas-KhabarNational

गोंडाः चार करोड़ की फिरौती के लिए किडनैंपड बच्चे को STF और पुलिस ने सकुशल छुड़ाया

अपहरण के कुछ घंटों में ही यूपी पुलिस ने गुत्थी सुलझायी, महिला समेत पांच गिरफ्तार

Lucknow: उत्तर प्रदेश के गोंडा जिले में कर्नलगंज क्षेत्र से अपहृत छह साल के बच्चे को पुलिस और स्पेशल टास्क फोर्स (एसटीएफ) ने शनिवार को सकुशल छुड़ा लिया. साथ ही सभी अपराधियों को भी गिरफ्तार कर लिया है. किडनैंपिंग के कुछ घंटे बाद ही पुलिस और एसटीएफ ने मामले को सुलझा लिया. इस सफलता के लिए पुलिस और एसटीएफ की संयुक्त टीम के लिए दो लाख रूपये के इनाम की घोषणा की गयी है .

इसे भी पढ़ेंःझारखंड में वांटेड तीन नक्सलियों को गुजरात ATS ने किया गिरफ्तार, राजद्रोह का आरोप

4 करोड़ की फिरौती मांगने वाले गिरफ्तार

अपर मुख्य सचिव (गृह एवं सूचना) अवनीश कुमार अवस्थी ने बताया कि गोंडा में शुक्रवार को अपहृत बच्चा सकुशल मिल गया है . इस उल्लेखनीय सफलता के लिए पुलिस और एसटीएफ की संयुक्त टीम के लिए दो लाख रूपये के इनाम की घोषणा की गयी है.

अवस्थी ने बताया कि अपर पुलिस महानिदेशक (कानून व्यवस्था) और पुलिस महानिरीक्षक (एसटीएफ) की अगुवाई में जनपद गोंडा के कर्नलगंज क्षेत्र से छह साल के बच्चे का अपहरण कर चार करोड रूपये की फिरौती मांगने वाले गिरोह के सदस्यों को गिरफ्तार कर लिया गया है.

उन्होंने बताया कि बच्चे का अपहरण करने वाले गिरोह के सूरज पांडेय, छवि पांडेय (पत्नी सूरज पांडेय), राज पांडेय, उमेश यादव और दीपू कश्यप को गोंडा पुलिस और एसटीएफ की संयुक्त टीम ने मुठभेड़ में गिरफ्तार किया.

अवस्थी ने बताया कि दो बदमाश दीपू और उमेश मुठभेड़ में घायल हो गये जबकि अपह्रत बालक सकुशल बरामद हो गया. अपहरण में इस्तेमाल आल्टो कार, 32 बोर की एक पिस्तौल, दो अदद 315 बोर तमंचा भी बरामद किया गया. उल्लेखनीय है कि अपहर्ताओं ने वारदात को अंजाम देने के बाद फोन पर परिजनों से चार करोड़ रुपए की फिरौती मांगी थी.
इसे भी पढ़ेंःबोकारोः कोरोना पॉजिटिव आने पर ऑपरेशन के ठीक पहले गर्भवती को तड़पता छोड़ भाग गए डॉक्टर और स्टाफ

मास्क बांटने के बहाने आये थे अपराधी

कर्नलगंज थाना क्षेत्र के मोहल्ला गाड़ी बाजार निवासी गुटखा मसाला के एक बड़े व्यापारी राजेश कुमार गुप्ता के छह वर्षीय पोते का आल्टो कार सवार बदमाशों ने अपहरण कर लिया था. बताया जाता है कि शुक्रवार को दोपहर बाद स्वास्थ्य विभाग का परिचय पत्र टांग कर कुछ लोग मोहल्ले में मास्क का वितरण करने के बहाने से आए और मास्क वितरित करते हुए लोगों का नाम एक कागज पर लिखा.

उन्होंने कोरोना वायरस के कारण मोहल्ले को सेनिटाइजेशन कराने व सेनिटाइजर का वितरण करने का झांसा भी दिया था. पुलिस ने बताया था कि वे राजेश गुप्ता के छह साल के पोते को थोड़ी दूर पर खड़ी गाड़ी से सेनिटाइजर देने के बहाने अपने साथ ले गए और बाद में बच्चे को लेकर फरार हो गए. थोड़ी देर बाद एक महिला की आवाज में फोन करके चार करोड़ रुपए की फिरौती मांगी गई थी. लेकिन पुलिस ने अपनी तत्परता से समय रहते केस की गुत्थी सुलझा ली और बच्चे को सकुशल छुड़ा लिया.

इसे भी पढ़ेंःदिल्लीः CRPF के सब इंस्पेक्टर ने अपने सीनियर को मारी गोली, फिर की आत्महत्या

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: