BokaroJharkhand

गोमिया : विद्यालय परिसर की जमीन पर कब्जा करने का प्रयास, दबंगों ने जेसीबी से नींव खोदी

Gomia: बहुत कम समय में गोमिया के सुदूरवर्ती ग्रामीण क्षेत्र चतरोचट्टी में गुणवत्तापूर्ण शिक्षा के क्षेत्र में अमिट छाप छोड़ चुका उत्क्रमित उच्च विद्यालय चतरोचट्टी का नाम पूरे चतरोचट्टी थाना क्षेत्र में बच्चे-बच्चे की जुबान पर है. उक्त विद्यालय ने गोमिया के ग्रामीण क्षेत्र में जो ख्याति अर्जित की है,  वह काबिले तारीफ है.  बताया जाता है कि गुणवत्तापूर्ण शिक्षा के कारण ही बच्चे 8-10 किलोमीटर की दूरी तय कर कढ़मा, तिसकोपी, माघा, बड़की सीधाबारा, छोटकी सीधाबारा, चिपरी, नावाडीह, मुरपा, बेंदी सहित अन्य गांवों से विद्यालय पढ़ने आते हैं.  परंतु ग्रामीण इलाके में शिक्षा के क्षेत्र में अलख जगा रहा यह विद्यालय वहीं के कुछ भूमाफियाओं और दबंगों को रास नहीं आ रहा है.

इसे भी पढ़ें : पीएम आवास योजना के तहत बन रहे मकान को दबंगों ने तोड़ा, अपनी जमीन होने का दावा किया

अवैध कब्जे की शिकायत का मामला प्रकाश में आया

रविवार को विद्यालय बंद होने की स्थिति में चतरोचट्टी थाना क्षेत्र के उक्त विद्यालय परिसर की सुरक्षित जमीन पर दबंगों द्वारा अवैध कब्जे की शिकायत का मामला प्रकाश में आया है.  जिसकी लिखित शिकायत विद्यालय प्रबंध संचालन समिति के अध्यक्ष सुंदर रविदास ने गोमिया के अंचलाधिकारी ओम प्रकाश मंडल से की है. समिति के अध्यक्ष ने पत्र में स्थानीय पांच दबंग भूमाफियाओं क्रमशः डोमन रविदास, छोटन रविदास, कारू रविदास, हरि रविदास चारों पिता स्व. बैजनाथ रविदास एवं चेतलाल रविदास, पिता छोटन रविदास के खिलाफ  शिकायत की है.

कब्जा करने और निर्माण कराये जाने की शिकायत

विद्यालय परिसर की खाली सुरक्षित जमीन पर जेसीबी मशीन लगाकर बुनियाद काटकर अवैध रूप से कब्जा करने और निर्माण कराये जाने की शिकायत की गयी है.  उन्होंने कहा है कि विद्यालय परिसर में शिक्षारत बच्चों को प्रार्थना, शिक्षा व स्वास्थ्य संबंधी अनेक कार्यक्रम कराये जाते हैं. जिससे शिक्षा के साथ-साथ बच्चों का शारीरिक और मानसिक विकास भी तेजी से हो रहा है.  परंतु अवैध रूप से जेसीबी मशीन से कराये गये बुनियाद खनन से यह सब प्रभावित होगा.  उन्होंने इस संबंध में प्रशासन से आवश्यक कार्रवाई की मांग की है.

इसे भी पढ़ें : बैंककर्मियों ने किये थे एसबीआई के एटीएम से 51लाख रुपये गायब, चार आरोपी गिरफ्तार

Telegram
Advertisement

Related Articles

Back to top button
Close