न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

गोमिया रेलवे स्‍टेशन पर यात्रियों को नहीं मिलती सुविधाएं, कई मांगें लंबित

117

Gomia: गोमिया रेलवे स्टेशन में यात्रियों की सुविधा को लेकर कई बार आंदोलन और धरना प्रदर्शन हुए. लेकिन इसके बाद भी रेल मंत्रालय द्वारा मांगों पर अमल नहीं कर पायी. बरकाकाना-आसनसोल सवारी गाड़ी के समय सारणी में परिवर्तन, कोलकाता-अजमेर एवं हावड़ा-अहमदाबाद एक्सप्रेस का गोमिया रेलवे स्टेशन में ठहराव, स्टेशन परिसर में महिला व पुरुष शौचालय एवं पेयजल की व्यवस्था, प्लेटफार्म नंबर दो में यात्री शेड का निर्माण एवं प्लेटफार्म नंबर 1 में यात्री शेड बढ़ाने और विगत 2 साल से बंद किये गये हावड़ा-भोपाल एक्सप्रेस को पुनः चालू करने की मांग को लेकर सीपीएम गोमिया प्रखंड द्वारा कई बार धरना प्रदर्शन किया गया.  रेल विभाग द्वारा आश्वासन मिलने के बावजूद नतीजा सिफर रहा.

रेलवे स्टेशन उपेक्षा का शिकार

प्रखंड सीपीएम पार्टी के सचिव राकेश कुमार का कहना है कि गोमिया रेलवे स्टेशन गोमिया प्रखंड, बेरमो अनुमंडल मुख्यालय, पेटरवार प्रखंड एवं हजारीबाग जिले के विष्णुगढ़ प्रखंड का सेंटर पवाइंट है. इन क्षेत्रों में रहने वाले ग्रामीण एवं यात्री विभिन्न गंतव्य स्थानों में यात्रा करते हैं. उक्त एक्सप्रेस ट्रेनों का ठहराव एवं यात्री सुविधाएं उपलब्ध नहीं होने के कारण घोर कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है. जबकि गोमिया रेलवे स्टेशन का रेल राजस्व निकटवर्ती अन्य स्टेशनों की अपेक्षा ज्यादा है. क्षेत्र में आईईएल बारूद कारखाना, टीटीपीएस, स्वांग कोलियरी, तेनुघाट डैम, कोनार डैम समेत तेनुघाट सिंचाई विभाग व अनुमंडल मुख्यालय सहित अन्य प्रतिष्ठान हैं. इसके बावजूद रेलवे स्टेशन उपेक्षा का शिकार है.

इसे भी पढ़ें : निर्वाचन आयोग ने सर्विस वोटरों को मतदाता सूची में शामिल करने का दिया अंतिम अवसर

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: