JharkhandRanchi

गोड्डा की घटना पूरे राज्य के लिए पीड़ादायक, ऐसा न हो, सुनिश्चित करें सभी डीसी : हेमंत सोरेन

विज्ञापन
Advertisement

Ranchi : मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने गोड्डा जिले के एक स्‍वास्‍थ्‍य केंद्र के बाहर महिला द्वारा बच्‍चे को जन्‍म दिये जाने के मामले को गंभीरता से लिया है. मुख्यमंत्री ने कहा कि यह अत्यंत गंभीर मामला है. ऐसी घटना होना पूरे राज्य के लिए पीड़ादायक है.

उन्होंने गोड्डा डीसी को पूरे मामले की जांच कर सूचित करने का निर्देश दिया है. साथ ही सभी जिले के डीसी को कहा है कि ऐसी घटना न हो, इसके लिए आप सभी समुचित कार्यप्रणाली बनाकर उसका पालन करवायें.

बता दें कि मुख्यमंत्री को जानकारी मिली थी कि गोड्डा जिले के पोडै़याहाट प्रखण्ड के डेवडाड़ उपस्वास्‍थ्‍य केन्द्र बंद रहने के कारण प्रसव पीड़ा से तड़प रही महिला ने स्‍वास्‍थ्‍य केंद्र के बाहर ही बच्‍चे को जन्‍म दिया. सहिया को फोन करने पर फोन बंद पाया गया. इसके बाद सामने यह निर्देश दिया है.

advt

इसे भी पढ़ें – Corona : उत्तर प्रदेश में 10 जुलाई से 13 जुलाई तक लॉकडाउन

असरिता की हर जरूरी मदद देने का डीजीपी को निर्देश

एक अन्य मामले में मुख्यमंत्री सोरेन ने डीजीपी एमवी राव और  खूंटी डीसी को घाघरा निवासी असरिता की हर जरूरी मदद देने का निर्देश दिया है. डीजीपी ने मुख्यमंत्री को जानकारी दी कि खूंटी डीसी ने जिले के एसपी से समन्वय स्थापित कर असरिता को जरूरी सहायता देने की पहल शुरू कर दी है.

इसे भी पढ़ें – पूर्व विधायक शिवपूजन कुशवाहा कोरोना पॉजिटिव

यह है मामला

मुख्यमंत्री को जानकारी दी गयी कि जून 2018 में पत्थलगड़ी की घटना के क्रम में पुलिस द्वारा घाघरा की असरिता मुंडू को पीटे जाने से उसने शारीरिक रूप से विकलांग व समय से पहले बच्चे को जन्म दिया था.

लेकिन उसे अभी तक किसी तरह की मदद या मुआवजा सरकार से नहीं मिली है. मामले की जानकारी मिलते ही मुख्यमंत्री ने उपरोक्त निर्देश संबंधित अधिकारियों को दिया है.

इसे भी पढ़ें – राज्य के 216 नर्सिंग होम और अस्पताल ने नहीं ली प्रदूषण बोर्ड से संचालन की मंजूरी, भेजा गया नोटिस

advt
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button
Close
%d bloggers like this: