ChaibasaJamshedpurJharkhand

CHAIBASA : मनोहरपुर सीएचसी चल रहा भगवान भरोसे, मलेरिया जोन में व्यवस्था से खिलवाड़ पड़ सकता है भारी

CHAIBASA : पश्चिमी सिंहभूम जिले के मनोहरपुर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र (सीएचसी) की चिकित्सा व्यवस्था पूरी तरह से फेल हो गई है. हालत यह है कि जहां चिकित्सक के सात पद हैं, वहां मात्र एक चिकित्सक के सहारे मरीजों का इलाज किया जा रहा है. जाननेवाली बात यह भी है कि मनोहरपुर क्षेत्र मलेरिया जोन माना जाता है. जाहिर तौर पर बरसात के इस मौसम में चिकित्सा व्यवस्था से इस का खिलवाड़ करना भारी पड़ता है.

यह है हालत

दरअसल सीएचसी में नियुक्त तीन चिकित्सकों के अलावा सोनुवा अस्पताल से एक चिकित्सक को मनोहरपुर अस्पताल में प्रतिनियुक्त किया गया है. इसके अलावा तीन दिनों के लिए प्रतिनियुक्त एक शल्य चिकित्सक डॉ प्रदीप्तो मांझी सिर्फ ऑपरेशन के लिए यहां आते है. कुल चार चिकित्सक में दो चिकित्सक डॉ कन्हैयालाल उरांव का राजखरसांवा और डॉ काशीनाथ पंडित का चाईबासा सदर अस्पताल में शनिवार को  तबादला कर दिया गया. डॉ अनिल कुमार छोटानागरा पीएचसी में नियुक्त है, जबकि सोनुवा अस्पताल से मनोहरपुर अस्पताल के लिए प्रतिनियुक्त डॉ देवी प्रसाद हांसदा के भरोसे आउटडोर एवं इंडोर में भर्ती मरीज़ों का इलाज चल रहा है. चिकित्सक 8 घंटा ड्यूटी करने के बजाय आउटडोर और इंडोर में भर्ती मरीजों  इलाज के लिए एक ही चिकित्सक पर प्रेशर बढ़ गया है.जबकी मनोहरपुर सीएचसी अस्पताल में आउटडोर एवं इंडोर में मरीज़ों का दिन रात मरीजों का आना लगा रहता है.

मरीजों की संख्या में भी बढ़ोत्तरी

इधर आउटडोर में मौसमी बीमारियों के प्रकोप से ग्रसित मरीजों की संख्या में भी बढ़ोत्तरी होने लगी है. बावजूद इसके मनोहरपुर सीएचसी के दो चिकित्सकों का तबादला कर दिया जाना स्वास्थ्य विभाग की कार्यशैली पर भी कहीं न कहीं सवाल खड़ा करता है. बता दें कि मनोहरपुर सीएचसी के अलावा आनंदपुर और जरायकेला पीएचसी में भी चिकित्सकों के अभाव है.

जिला पार्षद ने डीसी के समक्ष उठाया मामला

इस मामले में मनोहरपुर के जिला पार्षद सदस्य रंजित यादव ने कहा है कि मनोहरपुर मलेरिया जोन है, फिर भी सीएचसी में चिकित्सकों की घोर कमी है. एक चिकित्सक के भरोसे अस्पताल चलाना वास्तव में दुर्भाग्यपूर्ण है. श्री यादव इस मामले से जिला उपायुक्त को अवगत कराते हुए मनोहरपुर सीएचसी में तत्काल तीन से चार चिकित्सकों की नियुक्ति की मांग की है. ताकि क्षेत्र की गरीब जनता को इसका लाभ मिल सके.

इसे भी पढ़े-Chakradharpur: मायानगरी मुंबई में चला चक्रधरपुर के दिनकर के अभिनय का जादू

Related Articles

Back to top button