न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

ग्लोबल स्किल समिट : एक लाख युवाओं को मिली नौकरी, बलिया सोरेन को 11 लाख का पैकेज

116
  • सीएम बोल- काम छोटा या बड़ा नहीं होता, मेहनत से होती है सिद्धि

Ranchi : खेलगांव स्थित बिरसा मुंडा एथलेटिक्स स्टेडियम में गुरुवार को आयोजित ग्लोबल स्किल समिट में राज्य के एक लाख युवाओं को नियुक्ति पत्र बांटे गये. इसमें बीआईटी सिंदरी के बलिया सोरेन को टाटा स्टील में 11 लाख रुपये सालाना का पैकेज दिया गया. 10 युवाओं को सांकेतिक रूप से नियुक्ति पत्र बांटे गये. इस दौरान सीएम रघुवर दास ने कहा कि काम न तो छोटा होता है न बड़ा. काम में मेहनत से सिद्धि होती है, मुकाम मिलता है. झारखंड के बच्चे मेहनती हैं. जब किसी इंडस्ट्री के मालिकों से हमें फीडबैक मिलता है, हमारा भी सीना गर्व से चौड़ा होता है. आज से पहले राजनीतिक दलों ने युवाओं को सिर्फ झंडा ढोने का काम दिया. किसी ने मानव संसाधन को स्किल करने की दिशा में नहीं सोचा. अब हमारे युवा अपने हुनर के बल पर झारखंड का नाम रोशन कर रहे हैं. युवा शक्ति के उत्साह को रोजगार देकर हमारी सरकार ने उनके सपने को पूरा किया है. कार्यक्रम का संचालन चारु शर्मा और एक्टर रोहित रॉय ने किया.

छह कौशल विकास केंद्रों का किया शिलान्यास

कार्यक्रम के दौरान छह कौशल विकास केंद्रों का शिलान्यास मुख्यमंत्री द्वारा किया गया. कोडरमा, पलामू, जामताड़ा, लोहरदगा में एक-एक केंद्र खोला जायेगा, वहीं रांची में दो कौशल विकास केंद्रों की स्थापना की जायेगी.

आठ एएमयू किये गये

स्किल समिट के दौरान आठ एएमयू भी किये गये. एनएसडीएम के एमडी रवि रंजन ने सभी कंपनियों के सीईओ के साथ एएमयू एक्सचेंज किया. कैमपी, बीएसडीयू, हेत्तिक इंडिया इंस्टीट्यूट ऑफ वेल्डिंग, सेंचुरियन यूनिवर्सिटी, ईस्ट ऑटो, फेस्टो और सचनिदेर के साथ एएमयू किया गया.

इनको सीएम ने दिया नियुक्ति पत्र

समिट में राज्य के एक लाख युवाओं को नौकरी दी गयी. कार्यक्रम में सांकेतिक रूप से 10 युवाओं को सीएम ने नियुक्ति पत्र बांटे. सीएम के हाथों नियुक्ति पत्र पानेवाले इन 10 युवाओं में अस्मिता टोप्पो, नीलकमल मुंडा, डेविड जॉन नाग, सुखदा हेम्ब्रम, संदीप ताना भगत, वीरेंद्र नाथ महतो, चांद मुर्मू, सुषमा महतो, देवंती कुमारी और बलिया सोरेन शामिल थे. बलिया सोरेन को 11 लाख रुपये सालाना का पैकेज मिला है.

आनेवाला समय झारखंड के युवाओं का होगा : राज्यपाल

मुख्य अतिथि द्रौपदी मुर्मू ने कहा कि आज का यह कार्यक्रम राज्य को और सम्मान दिलायेगा. झारखंड के युवा मेहनती तो हैं ही, अब सरकार इन्हें हुनरमंद बनाकर रोजगार भी देने का काम कर रही है. आनेवाला समय झारखंड के युवाओं का होगा. देश दुनिया में हमारे राज्य के युवा अपनी मेहनत और कौशल के बल पर अपना और राज्य का नाम रोशन करेंगे.

दूसरे राज्यों में भी होना चाहिए झारखंड जैसा स्किल कुंभ : धर्मेंद्र प्रधान

इस मौके पर विशिष्ट अतिथि केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने कहा कि झारखंड जैसा स्किल कुंभ अनेक राज्यों में किया जाना चाहिए. झारखंड ऐसा अनोखा राज्य है, जहां कृषि, उद्योग, पर्यटन, इंडस्ट्रीज तो पहले से ही मौजूद थे, अब यहां के मेहनती कार्यकुशल युवाओं को स्किल्ड भी किया जा चुका है. आनेवाले कुछ सालों में ही यह देश का अग्रणी राज्य होगा.

इसे भी पढ़ें- लालू प्रसाद यादव की जमानत याचिका हाई कोर्ट ने की खारिज

इसे भी पढ़ें- विद्युत नियामक आयोग को कानूनी सलाह देने वाला कोई नहीं, सदस्य लॉ का पद 20 माह से खाली

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: