न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

खुद को कमजोर न दिखायें युवतियां : सुनीता

छात्राओं को दी गयी मार्शल आर्ट की ट्रेनिंग

eidbanner
221

Ranchi : छात्राएं समझ नहीं पाती हैं कि वे खुद भी अपनी रक्षा कर सकती हैं. दैनिक उपयोग में आनेवाली वस्तुओं से अपनी रक्षा कर सकती हैं. उक्त बातें सुनीता मुंडेकर ने छात्राओं को प्रशिक्षण देते हुए कहा. वह अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद् की ओर से आयोजित मिशन साहसी के दौरान छात्राओं को प्रशिक्षण दे रही थीं. उन्होंने कहा कि छात्राओं की सुरक्षा को लेकर परिषद् प्रतिबद्ध है और उन्हें आत्मरक्षा में सक्षम बनाने के लिए मिशन साहसी की शुरुआत पूरे देश भर में की गयी है. इसके तहत छात्राओं को मार्शल आर्ट की ट्रेनिंग दी जा रही है. इसके पश्चात छात्राओं में आत्मविश्वास बढ़ेगा और असामाजिक तत्वों को मुंहतोड़ जवाब देकर वह मार्शल आर्ट की अपनी शिक्षा को सार्थक करेंगी. दूसरे दिन के प्रशिक्षण में चार घंटे मार्शल आर्ट प्रशिक्षण छात्राओं को दिया गया, ताकि वे सार्वजनिक स्थानों पर मनचलों का शिकार न हों, अपितु उन पर भारी पड़ें. इस दौरान 60 छात्राओं को प्रशिक्षण दिया गया.

इसे भी पढ़ें- छुट्टी होने से स्थगित हुई स्कूलों में परीक्षा, बच्चों के साथ माता-पिता की बढ़ी परेशानी

कमजोर न बनें छात्राएं

सुनीता ने इस दौरान कहा कि मनचले युवतियों को इसलिए परेशान करते हैं, क्योंकि ये युवतियों को कमजोर समझते हैं. यदि छात्राओं को मार्शल आर्ट की ट्रेनिंग दी जाने की परंपरा विश्वविद्यालय प्रशासन द्वारा आत्मसात कर ली जाये, तो इससे छात्राओं को लेकर अपराधियों के मन में निर्भीकता खत्म हो जायेगी और वे कभी भी छात्राओं को स्पर्श करने से पहले सौ बार सोचेंगे.

Related Posts

लातेहारः SDO सह LRDC जयप्रकाश झा समेत पांच रेवेन्यू अफसरों पर धोखाधड़ी का केस दर्ज, जमीन का फर्जी दस्तावेज तैयार कर हड़प ली दिव्यांग की राशि

भुसाड़ ग्राम निवासी जंगाली भगत ने टोरी-महुआमिलान नई वीजी रेलवे लाईन निर्माण में स्वीकृत भूमि अधिग्रहण की राशि में हेराफेरी करने का लगाया आरोप

इसे भी पढ़ें- स्वच्छता ही सेवा कार्यक्रम के तहत राज्यपाल ने की सफाई, कहा : सफाई बनाये रखें लोग

असामाजिक तत्वों से प्रताड़ित न हों छात्राएं : शुक्ल

कार्यशाला को संबोधित करते हुए प्रांत संगठन मंत्री याज्ञवल्क्य शुक्ल ने कहा कि परिषद छात्राओं के प्रति अत्यंत संवेदनशील है और उनकी समस्याओं के प्रति अपनी प्रतिबद्धता को सिद्ध करते हुए अभाविप द्वारा यह कार्यशाला संचालित की जा रही है. इसमें प्रशिक्षण प्राप्त करने के उपरांत कभी भी छात्राओं को सार्वजनिक स्थानों पर असामाजिक तत्वों द्वारा प्रताड़ित नहीं होना पड़ेगा. प्रशिक्षण प्राप्त करने के उपरांत ये छात्राएं अपने मार्शल आर्ट के कौशल का सार्वजनिक प्रदर्शन करेंगी, ताकि अन्य छात्राएं भी मार्शल आर्ट की ट्रेनिंग लेने के लिए प्रोत्साहित हो सकें. मौके पर महानगर मंत्री कृष्ण मिश्रा, विनय कुमार, भागवत गणेश, राहुल राय समेत अन्य लोग उपस्थित थे.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

hosp22
You might also like
%d bloggers like this: