न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

पलामू में राष्ट्रीय औसत से कम हुई बालिकाएं, डीसी ने कहा- भ्रूण हत्या रोककर पाटा जायेगा अंतर

14

Palamu: पलामू जिले में प्रति 1000 बालकों की आबादी में बालिकाओं का औसत 934 है. यह राष्ट्रीय औसत से कम है. जिले में कम हुई बालिकाओं की आबादी को पाटने के लिए ‘बेटी बचाओ अभियान’ चलाया जायेगा. एक साल में प्रसव पूर्व भ्रूण जांच अधिनियम के तहत सोनोग्राफी केन्द्रों में औचक छापामारी की जायेगी. जिले के उपायुक्त डॉ शांतनु कुमार अग्रहरि ने अपने आवासीय कार्यालय कक्ष में ‘बेटी बचाओ – बेटी पढ़ाओ जिलास्तरीय टास्क फोर्स की बैठक करते हुए इस दिशा में निर्देश जारी किया है.

उपायुक्त ने स्पष्ट लहजे में पुलिस उपाधीक्षक को कहा कि जिले में ‘पोक्सो एक्ट‘ के तहत दर्ज मामले तथा इस विषय पर अब तक की गयी कारवाई का प्रतिवेदन उपलब्ध कराये, ताकि उचित दिशा-निर्देश दिया जा सके.   बैठक में ‘बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ’ अभियान के तहत जिले में माध्यमिक शिक्षा में बालिकाओं के नामांकन प्रतिशत को बढ़ाने के लिए शिक्षा एवं समाज कल्याण के संयुक्त तत्वावधान में अभियान चलाने का निर्णय लिया गया. इसके साथ ही जिले में संचालित 2595 आंगनबाड़ी केन्द्रों में पोषाहार के अन्तर्गत अंडों की आपूर्ति सुनिश्चित करने तथा सभी आंगनबाड़ी केन्द्रों में शिशुओं का वजन मशीन के माध्यम से प्रतिमाह बच्चों का वजन जांच सुनिश्चित करने का निर्देश दिया गया. उपायुक्त ने जिला समाज कल्याण पदाधिकारी को आंगनबाड़ी केन्द्रों में सेविका एवं सहायिका के रिक्त पदों पर दिसम्बर माह तक नियुक्ति प्रक्रिया पूरी करने का निर्देश दिया.

दिसम्‍बर में पूरा हो जायेगा टीकाकरण

बैठक में सिविल सर्जन ने बताया कि टीकाकरण अभियान के अन्तर्गत जिले में नौ माह तक के बच्चे का टीकाकरण नवम्बर माह तक 74 प्रतिशत पूरा कर लिया गया है. दिसम्बर माह में शत-प्रतिशत लक्ष्य पूरा कर लिया जाएगा. जिले में बाल संरक्षण समिति द्वारा संचालित बालिका छात्रावास, नारी आश्रय गृह, आब्‍जरवेशन गृह एवं चाईल्ड केयर हाऊस के संबंध में एक सप्ताह के अन्दर विस्तृत प्रतिवेदन के साथ प्रस्ताव उपलब्ध कराने का निर्देश दिया गया.

24 जनवरी को जिला स्तर पर कुकिंग फेस्टि‍वल आयोजित करने का निर्णय लिया गया. इस कार्यक्रम में विद्यालय के बालिकाओं सहित विभिन्न क्षेत्रों में कार्यरत महिलाओं की सहभागिता सुनिश्चित करने के लिए जिला समाज कल्याण पदाधिकारी को विभिन्न विभागों से समन्वय स्थापित करने का निदेश दिया गया.

बैठक में उपायुक्त के अलावा उप विकास आयुक्त बिन्दु माधव सिंह, सिविल सर्जन डॉ कलानन्द मिश्रा, जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव प्रफुल्ल कुमार, पुलिस उपाधीक्षक प्रेमनाथ, जिला समाज कल्याण पदाधिकारी शंत्रुजय कुमार, बाल संरक्षण पदाधिकारी प्रकाश राम, केडी पासवान तथा जिला शिक्षा अधीक्षक उपस्थित थे.

इसे भी पढ़ें: सीआईडी जांच में 27 कोयला चोरों के नाम, बाकी को छूट!

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments are closed.

%d bloggers like this: