Bihar

बालिका गृह मामला : 25 मार्च को आरोप तय करने पर आदेश देगी अदालत

विज्ञापन

Muzaffarpur : दिल्ली की एक कोर्ट ने सोमवार को कहा कि वह मुजफ्फरपुर बालिका गृह यौन उत्पीड़न मामले में आरोप तय करने पर 25 मार्च को फैसला करेगा. अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश सौरभ कुलश्रेष्ठ ने सीबीआई की दलीलें सुनने के बाद मामले की सुनवाई अगली तारीख के लिए निर्धारित की. गौरतलब है कि जांच एजेंसी ने 21 लोगों के खिलाफ आरोपपत्र दाखिल किया है.

31 मई 2018 को दर्ज की गयी थी प्राथमिकी 

जिरह के दौरान आरोपियों ने अपने खिलाफ लगाए गए आरोपों से इनकार किया. बिहार के मुजफ्फरपुर में एनजीओ द्वारा संचालित बालिका गृह में कई लड़कियों से कथित तौर पर दुष्कर्म किया गया था. मामले में 31 मई 2018 को प्राथमिकी दर्ज की गयी थी. जिरह के दौरान आरोपियों ने कोर्ट को बताया कि मुकदमा चलाने के लिए उनके खिलाफ सबूत नहीं है.

आरोपी के वकील ने कहा- एजेंसी के मामले में कई विरोधाभास

इधर, मुख्य आरोपी बृजेश ठाकुर और अन्य की ओर से पेश वकील धीरज कुमार सिंह ने कहा कि एजेंसी के मामले में कई विरोधाभास हैं. एक जगह उन्होंने कुछ और कहा जबकि उनके द्वारा पेश चिकित्सा रिपोर्ट में कुछ और कहा गया. सुप्रीम कोर्ट ने सात फरवरी को बिहार से मुकदमे को दिल्ली में साकेत जिला अदालत परिसर में यौन अपराधों से बच्चों का संरक्षण (पॉक्सो) अदालत में स्थानांतरित करने का आदेश दिया था.

advt

advt
Advertisement

Related Articles

Back to top button