Crime NewsJharkhand

मानसिक प्रताड़ना के कारण छात्रा ने की थी खुदकुशी, आरोपी दोस्त कोर्ट में पेश

Giridih: छात्रा मुस्कान कुमारी के संदेहास्पद मौत का पटाक्षेप काफी हद तक गठित एसआइटी ने कर ली है. छात्रा मुस्कान ने मानसिक प्रताड़ना के कारण ही आत्महत्या की थी. मानसिक रूप से प्रताड़ित करने के आरोप में मृतका मुस्कान कुमारी के दोस्त कृष्णा चौधरी पर लगने के बाद शुक्रवार को गिरिडीह मुफ्फसिल थाना पुलिस ने उसे भी पूछताछ के लिए हिरासत में लिया.

Advt

फिलहाल पुलिस आरोपी दोस्त कृष्णा चौधरी से थाना में पूछताछ भी की है. पूछताछ में जो बातें सामने आयी है, उसके बाद पुलिस द्वारा आरोपी दोस्त कृष्णा चौधरी को कोर्ट में पेशी के लिए भेजा गया था. फिलहाल स्पष्ट नहीं हुआ कि आरोपी को जेल भेजा गया है या नहीं.

हालांकि यह भी स्पष्ट नहीं हुआ कि छात्रा को कृष्णा चौधरी किस मकसद से प्रताड़ित कर रहा था क्योंकि छात्रा की संदिग्ध मौत के मामले को लेकर एसपी अमित रेणु के निर्देश पर गठित एसआइटी में शामिल पुलिस पदाधिकारियों ने शहर के न्यू बरगंडा रोड स्थित कोचिंग इन्स्टीच्यूट में कई लोगों से पूछताछ की.

जानकारों की मानें तो पूछताछ में यही बात निकल कर सामने आया कि कृष्णा और छात्रा मुस्कान के बीच बेहद करीबी दोस्ती थी क्योंकि छात्रा व उसका दोस्त दोनों एक ही गांव जमुआ के चरघरा के ही थे. लिहाजा, पूछताछ और जांच से यह भी निकल कर सामने आया कि मुस्कान को उसका दोस्त कृष्णा चौधरी ही प्रताड़ित कर रहा था.

वैसे मामले में जांच अब भी चल रही है. माना यह भी जा रहा है कि कई और राज सामने आ सकते है. पुलिस की मानें तो बीते पांच दिसबंर को अहले सुबह करीब चार बजे कृष्णा चौधरी ने मुस्कान को फोन कर आने को कहा. मुस्कान भी घर छोड़ने के मकसद से ही घर से निकली और अपना मोबाइल घर के मेन गेट से कुछ दूरी एक चारदीवारी पर रखकर चली गई.

इसके चंद घंटो बाद ही उसका शव शीतलपुर के मैगजीनिया गांव के एक पेड़ पर झूलता हुआ मिला था. मुस्कान का शव मिलने के बाद मृतका के पिता दिनेश पांडेय ने मुफ्फसिल थाना में आवेदन देकर बेटी के मोबाइल में अंतिम कॉल करने वाले मोबाइलधारक के खिलाफ मानसिक रूप से प्रताड़ित कर सुसाइड करने के लिए उकसाने का आरोप लगाकर केस दर्ज कराया था.

Advt

Related Articles

Back to top button