Bihar

नीतीश पर गिरिराज का वार, कहा- ताली सरदार को, तो गाली भी सरदार को

विज्ञापन

Patna/Darbhanga : केंद्रीय मंत्री और भाजपा सांसद गिरिराज सिंह ने पटना में बारिश के कारण हुए जलजमाव को लेकर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर निशाना साधते हुए शुक्रवार को कहा कि ‘ताली’ सरदार को, तो ‘गाली’ भी सरदार को.

इसे भी पढ़ें- रांची की ट्रैफिक व्यवस्था दुरस्त करने की बात कह कर भूल जाते हैं मेयर, डिप्टी मेयर और सांसद

नीतीश पर गिरिराज का निशाना

गिरिराज से यह पूछे जाने पर कि पटना में जलजमाव के लिए कौन जिम्मेवार है, उन्होंने कहा कि अगर गंगा नदी की बाढ़ से यह शहर डूबा होता तो कोई बात होती, कहीं न कहीं कुव्यवस्था इसकी आड़ में है.

advt

उन्होंने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर अप्रत्यक्ष रूप से निशाना साधा और यह कहते हुए उन्हें इसकी जिम्मेवारी लेने को कहा कि ताली सरदार को, तो गाली भी सरदार को.

यह पूछे जाने पर कि क्या उनका निशाना मुख्यमंत्री नीतीश कुमार हैं, गिरिराज ने कहा कि जिसपर भी हो, वह आप बेहतर तौर पर जानते हैं. मैं तो इतना ही जानता हूं कि ‘ताली’ सरदार को तो ‘गाली’ भी सरदार को.

इसे भी पढ़ें- #Sahibganj जिले की 51 पंचायतें प्रभावित, 12,322 बाढ़ पीड़ितों को राहत सामग्री दी गयी  : उपायुक्त

इससे पहले गिरिराज ने जनता से मांगी थी माफी

इससे पहले दरभंगा के लहेरियासराय थाना अंतर्गत गोविंदपुर मुहल्ले में मां दुर्गा की आरती में शामिल होने के बाद मीडिया से बात करते हुए गिरिराज ने कहा कि पटना में बारिश के पानी के कारण जो बाढ़ की तरह विभीषिका से लोगों को पीड़ा हुई उसके लिए सरकार में शामिल हम सभी लोग (राजग) जिम्मेदार हैं.

adv

मैं तो इसके लिए माफी मांगता ही हूं लेकिन जिनके कारण यह दुर्दशा हुई वैसे अधिकारियों और लोगों को चिन्हित करके सार्वजनिक करने की जरूरत है. गिरिराज ने कहा कि मैं भी उस जवाबदेह का हिस्सा हूं.

इसे भी पढ़ें- देश भर में मॉनसूनी बारिश-बाढ़ से करीब 1,900 लोगों की मौत, 22 राज्यों की 25 लाख की आबादी हुई प्रभावित

नीतीश पर लगाया हिन्दू धर्म को खत्म करने का आरोप

किसी को गलतफहमी नहीं रहे कि यह किसी एक पार्टी की सरकार है. ये भाजपा और जदयू गठबंधन राजग की सरकार है. राजग की सरकार में जनता को तकलीफ होगी तो मैं माफी मांगूंगा ही और जो जिम्मेवार हैं उसे भी सजा दिलाऊंगा.

पटना में रामलीला के बंद होने पर नीतीश सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि हिन्दू धर्म को खत्म करने का यह प्रयास है जबकि रामलीला होने से राम का चरित्र का वर्णन होता है.

उन्होंने कहा कि राम के चरित्र से समाज के हर धर्म को सीख मिलती है और समाज के सभी लोगों को इसे अपनाना चाहिए. उन्होंने एआइएमआइएम प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी को राष्ट्र विरोधी बताया.

advt
Advertisement

Related Articles

Back to top button