Crime NewsGiridihJharkhand

गिरिडीह : अपहर्ता के चंगुल से आठ दिन बाद मुक्त हुआ युवक

विज्ञापन

Giridih : जिले के तिसरी थाना अंतर्गत खतपोंक गांव के अंकित कुमार को अपराधियों ने आठ दिनों के बाद मुक्त कर दिया. अंकित गांव के पीडीएस डीलर अशोक मोदी के पुत्र है.

अपराधियों ने लेवी की रकम लेने के बाद शुक्रवार देर रात अंकित को मुक्त कर दिया. शनिवार तड़के करीब साढ़े तीन बजे अंकित आठ दिन बाद सकुशल अपने घर लौट गया.

अंकित के सकुशल घर लौटने की सूचना पर पुलिस भी मौके पर पहुंची और मामले की जानकारी ली. गौरतलब है कि अंकित कुमार को अपराधी 13 जुलाई की रात घर से उठा कर ले गए थे. अपराधियों दहशत फैलाने के लिये फायरिंग भी की थी.

advt

इसे भी पढ़ें- चेन्नईः 14 ठिकानों पर एनआइए की रेड, टेरर फंडिंग को लेकर कार्रवाई

10 लाख लेवी लेने की जतायी जा रही आशंका

अंकित को उसके परिजनों के द्वारा अपराधियों को लेवी के रूप में 10 लाख रुपया देकर मुक्त कराया है. हालांकि इसकी पुष्टि न तो परिवार के लोग कर रहे हैं और न ही पुलिस.

अंकित को 13 जुलाई की रात हथियारबंद अपराधी उसके घर से अगवा कर ले गए थे. उसकी सकुशल बरामदगी और अपराधियों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस सीमावर्ती इलाकों में लगातार छापेमारी कर रही थी. लेकिन पुलिस को कोई भी सुराग हाथ नहीं लगा था. बताया जा रहा है बिहार के अपराधियों ने उसे अपहरण किया था.

इसे भी पढ़ें- रांची : अलग-अलग मामलों में दो की हत्या, जांच में जुटी पुलिस

adv

दर्जनों की संख्या में आए थे अपराधी

13 जुलाई की देर रात दर्जनों की संख्या में अपराधी जन वितरण दुकानदार (पीडीएस) अशोक मोदी के घर पहुंचे थे. वे अशोक कुमार की खोज कर रहे थे. लेकिन अशोक घर पर नहीं मिले. जिसके बाद अपहर्ता अशोक मोदी के बेटे अंकित को अपने साथ ले गये. बताया जा रहा है कि अपराधी अंकित कुमार को लेकर चन्दौरी की ओर भाग गए थे.

advt
Advertisement

Related Articles

Back to top button