GiridihJharkhand

गिरिडीहः नगर निगम की बैठक में हंगामा, कई पार्षदों ने लगाया योजनाओं में भेदभाव का आरोप

Giridih : गिरिडीह नगर निगम के बोर्ड की बैठक गुरुवार को की गयी. बोर्ड की बैठक हंगामेदार रही. बैठक में पार्षदों ने असंतोष जताया. पार्षदों में सैफ अली गुड्डु और बुंलद रुमी अख्तर ने कहा कि अब पार्षदों के मांग को भी सुनने वाला निगम में कोई नहीं है. निगम ने योजना देने में काफी भेदभाव किया है. ऐसे कई वार्ड हैं जहां 25 से 30 करोड़ की योजनाएं दे दी गयी है. वहीं 17, 18, 19, 20, 21 और 26, 27 में कोई योजना नहीं दी गयी है.

इन वार्ड पार्षदों ने निगम के अधिकारी पर आरोप लगाते हुए कहा कि बैठक में निगम के सभी वार्डो में दिए गए योजनाओं की लिस्ट मांगी गयी, लेकिन बैठक में हालात ऐसे रहे कि कोई लिस्ट तक देने को तैयार नहीं था.

इसे भी पढ़ें :पटना में कोचिंग संचालकों पर मामला दर्ज होने के बाद खान सर समेत कई संचालक फरार, मोबाइल भी किया बंद

ऐसे में दोषी अधिकारियों के खिलाफ हाईकोर्ट में जनहित याचिका दायर करेंगे. मामले में कोर्ट ही पार्षदों को अब न्याय दिलायेगा.

गुरुवार को हुए बोर्ड की बैठक में डिप्टी महापौर प्रकाश सेठ, उप नगर आयुक्त राजेश प्रजापति, पार्षद सुमित कुमार, आरती देवी, नीलम झा, रंजीत यादव, कमल सिंह, पप्पू रजक ने कई मुद्दों को उठाया.

इसे भी पढ़ें :बोकारो को एजुकेशन हब बनाने में सहयोग करे सेलः मुख्यमंत्री

वहीं कुछ पार्षदों द्वारा उठाए गये मुद्दों के आधार पर उप नगर आयुक्त ने बताया कि शहर के श्मशान घाट में शव के दाह-संस्कार में डोम राजा द्वारा जो शुल्क लिया जाता है उसे लेकर जांच कमेटी तो जरुरी बनी, लेकिन जांच रिपोर्ट अभी तक नहीं आया.

लिहाजा, इस महत्वपूर्ण मुद्दे पर कोई निर्णय नहीं हो सका.बैठक में पीएम आवास योजना के नये डीपीआर को भी नगर विकास मंत्रालय भेजने की मंजूरी मिली.

इसे भी पढ़ें :गणतंत्र दिवस पर TMC का झंडा फहराकर गाया राष्ट्रगान! BJP नेता शुभेंदु अधिकारी ने VIDEO शेयर कर कहा ये शर्मनाक है

Advt

Related Articles

Back to top button