GiridihHEALTHJharkhand

Giridih: खाना बनाने वाली एजेंसी को दे दिया सदर अस्पताल में ऑक्सीजन पाइपलाइन बिछाने का कार्य

Manoj Kumar Pintu

Giridih: कोरोना की तीसरे लहर की आशंका को देखते हुए गिरिडीह स्वास्थ विभाग की तैयारी युद्धस्तर पर चल रही है तो स्थानीय सदर विधायक सुदिव्य कुमार सोनू समेत एक साथ तीन विधायक स्वास्थ विभाग को जरूरत पड़ने वाले उपकरणों के लिए अपने फंड भी उपलब्ध करा रहे है. यहां तक कि सदर अस्पताल में ऑक्सीजन प्लांट भी बनकर तैयार है.

लेकिन जानकर हैरानी होगी कि स्थानीय सदर विधायक सुदिव्य कुमार सोनू की अनुशंसा पर ही सदर अस्पताल के मरीजों के बीच भोजन बांटने वाली एजेंसी के संचालक मो. नवाब और झामुमो नेता कुमार गौरव को सदर अस्पताल के दौ सौ बेड और गांडेय व बेंगाबाद में 10-10 बेड के अलावे बरमोरिया अस्थायी कोविड हॉस्पिटल में ऑक्सीजन सप्लाय पाइपलाइन का काम सौंप दिया गया, वह भी बगैर टेंडर के.

advt

इसे भी पढ़ें:JAC : 14 सितंबर से होगी पीटीटी और मदरसा परीक्षा, केंद्र निर्धारित

इन कामों को विकास एजेंसी एनआरईपी के माध्यम से किया गया, जबकि पाइपलाइन का कार्य किसी अनुभवी एजेंसी या ठेकेदार से कराने का प्रावधान था, जिससे पाइपलाइन के सहारे कोरोना संक्रमित मरीजों को वक्त पर ऑक्सीजन मिल सके.

मामले की जब पड़ताल की गयी तो सदर अस्पताल के दूसरे तल्ले में जिला कुष्ठ विभाग के पदाधिकारी के चैंबर और कर्मियों के कार्यालय से सदर अस्पताल के मीटिंग हाल तक में पाइपलाइन बिछा हुआ मिला. अस्पताल के इसी तल्ले के एक वार्ड में पाइपलाइन दीवार से सटा हुआ दिखा.

सारे नियमों को ताक पर रखकर पाइपलाइन कनेक्शन का कार्य रसोइया और एक झामुमो नेता को दिया गया. समझा जा सकता है कि ऐसे हालात में कोरोना से मरीजों की हालत कितनी सुरक्षित रह पाएगी. वह भी तब जब ऑक्सीजन की कमी से दूसरी लहर में गिरिडीह में कुछ कोरोना संक्रमितों की मौत हो चुकी थी.

इसे भी पढ़ें:RU : एलएलबी एडमिशन के लिए 15 से 30 सितंबर तक करें आवेदन

हालांकि मानसून सत्र में हेमंत सरकार ने भी राज्य में ऑक्सीजन की कमी से किसी संक्रमित की मौत के दावों से इंकार किया था. लेकिन गिरिडीह के गांडेय में संक्रमित तो दूसरा शहरी क्षेत्र में राजेन्द्र नगर की एक महिला की मौत ऑक्सीजन की कमी से होने की बात सामने आई थी.

स्वास्थ विभाग के सूत्रों की मानें तो विधायक की अनुशंसा पर ऑक्सीजन सप्लाइ के पाइपलाईन का कार्य विकास एजेंसी एनआरईपी को दिया गया. एनआरईपी के जेई मुकेश कुमार को एनआरईपी ने कार्य आवंटित किया.

तो जेई मुकेश कुमार ने सदर अस्पताल में दौ सौ बेड और बेंगाबाद के साथ गांडेय स्वास्थ केन्द्र में अस्पताल के रसोईया को पाईप लाईन बिछाने का कार्य सौंप दिया. वहीं बरमोरिया के अस्थायी कोविड सेंटर में झामुमो नेता को पाईप बिछाने का कार्य आवंटित कर दिया.

वैसे इस मामले में जब सिविल सर्जन डॉ शिव प्रसाद मिश्रा और एनआरईपी के पदाधिकारियों से कारण पूछा गया तो अधिकारी ने कैमरे के सामने कुछ कहने से इंकार कर दिया.

इसे भी पढ़ें:हैवियस कॉर्पस मामलाः हाइकोर्ट ने सीडब्ल्यूसी को जवाब दाखिल करने का दिया निर्देश

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: