GiridihJharkhand

#Giridih: पिकअप वैन लूटकर भागे अपराधी चंद घंटों में ही धरे गये, दो लोडेड पिस्तौल भी बरामद

Giridih: गिरिडीह जिले के अटका के मुंडरो घुठिया पेसरा में नेशनल हाइवे के समीप से पिकअप वैन लूट कर भागे चार कुख्यात अपराधियों को गिरोह के सरगना समेत गिरिडीह की बगोदर थाना पुलिस ने घुठिया पेसरा के जंगल से दबोचने में सफलता पायी है.

पुलिस ने चारों अपराधियों के पास से दो लोडेड पिस्तौल के साथ लूटे गये पिकअप वैन को भी बरामद किया है. लूट की घटना को अंजाम देने के चंद घंटे बाद ही चारों अपराधियों को पुलिस ने दबोच लिया. पुलिस के हत्थे चारों अपराधी जिस गिरोह से जुड़े हैं उसका नाम एनएसपीएम है.

बगोदर पुलिस को मिली सफलता के दूसरे दिन गुरुवार को थाना में प्रेसवार्ता कर एसपी सुरेन्द्र झा, एसडीपीओ विनोद महतो, पुलिस निरीक्षक रामनारायण चौधरी और थाना प्रभारी नवीन सिंह ने पूरे मामले की जानकारी दी.

Catalyst IAS
SIP abacus

उन्होंने बताया कि गिरफ्तार अपराधियों में उमेश गिरि उर्फ उमेश पांडे उर्फ उमेश दास हजारीबाग के विष्णुगढ़ थाना क्षेत्र के चुकचुको गांव का रहने वाला है,

Sanjeevani
MDLM

गिरोह का सरगना खुद उमेश है. वहीं तीन अन्य अपराधियों में विष्णुगढ़ थाना क्षेत्र के नवडीहा गांव निवासी छोटू प्रसाद उर्फ छोटू महतो, बगोदर के मुंडरो गांव निवासी अनिल महतो व चतरा के ईटखोरी निवासी मुकेश राणा शामिल हैं.

इसे भी पढ़ें : एनटीए ने पांच परीक्षाओं का एप्लीकेशन डेट बढ़ाया, 15 मई तक है मौका

ऐसे पकड़े गये अपराधी

एसपी झा ने प्रेसवार्ता के दौरान बताया कि चारों अपराधी ने बुधवार देर रात अटका के घुठिया पेसरा के समीप से जिस पिकअप वैन को लूट कर भागे थे उस पिकअप वैन का चालक देर रात ही बगोदर थाना पहुंचा और घटना की जानकारी दी.

घटना के वक्त से बगोदर क्षेत्र में लगातार बारिश हो रही थी. इसी का फायदा बगोदर पुलिस को मिला. घुठिया पेसरा नेशनल हाईवे के समीप जंगल में टायर के निशान मिलने के बाद पुलिस ने जंगल में बारिश के बीच सर्च ऑपरेशन चलाया.

इस दौरान जंगल के कुछ भीतर घुसने के बाद पिकअप वैन नजर आया जिसमें गिरोह का अपराधी छोटू प्रसाद मौजूद था. इसके बाद छोटू प्रसाद की निशानदेही पर पुलिस ने देर रात ही गिरोह के सरगना उमेश गिरि समेत तीनों अपराधियों को इसी जंगल के अलग-अलग स्थानों से दबोचने में सफलता पायी.

इसमें उमेश गिरि और मुकेश राणा को जहां एक ही स्थान से गिरफ्तार किया गया वहीं अनिल को जंगल में बनी एक झोपड़ी से दबोचा गय. तलाशी के दौरान उमेश के पास से एक लोडेड पिस्तौल बरामद की गयी जबकि दूसरी पिस्तौल अनिल महतो के पास से बरामद हुई.

इसे भी पढ़ें : लॉकडाउन के दौरान साइकिल से अपने घर जा रहे 57 प्रवासी मजदूरों के खिलाफ मामला दर्ज, साइकिल विक्रेता पर भी केस

नक्सलियों की तर्ज पर करते थे काम

चारों अपराधियों की क्रिमिनल हिस्ट्री की जानकारी देते हुए एसपी झा ने बताया कि उमेश गिरि अपने गिरोह का संचालन बगोदर और विष्णुगढ़ के इलाके में ही करता है.

नक्सलियों की तर्ज पर ठेकेदारों से लेवी वसूलना और सड़क लूट की घटना को अंजाम देना ही गिरोह का काम है.

गिरोह में रेकी करने का जिम्मा उमेश ने अनिल और छोटू को दे रखा था क्योंकि अनिल व छोटू को बगोदर के चप्पे-चप्पे की जानकारी है.

चारों अपराधियों को बगोदर और विष्णुगढ़ पुलिस पहले भी जेल भेज चुकी है. गिरोह का सरगना उमेश गिरि तीन माह पहले गिरिडीह जेल से बाहर निकला और दूसरी बार गिरोह तैयार कर लूट व लेवी वसूलने की घटनाओं को अंजाम देना शुरू कर दिया.

इसे भी पढ़ें : #Dhanbad: ‘कोल माफिया’ नाम से शॉर्ट फिल्म बनाकर यूट्यूब पर किया अपलोड, सिंह मेंशन समर्थक ने कराया मामला दर्ज

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button