Crime NewsGiridihJharkhand

Giridih: जंगल में मिले महिला के शव की हुई पहचान, पर मौत की वजह पर संशय कायम

Giridih: गिरिडीह के मुफ्फसिल थाना क्षेत्र के कोवाड जंगल में मिले अज्ञात महिला के शव की पहचान जिले के धनवार के परसन ओपी के खिजरसोता गांव निवासी महेन्द्र वर्मा की 32 वर्षीय पत्नी ललिता देवी के रूप में हुई है. बुधवार को महेन्द्र वर्मा कोलकाता से वापस लौटा और सदर अस्पताल पहुंचा जहां उसकी पत्नी का शव पोस्टमार्टम के लिए पहले से रखा हुआ था. महेन्द्र वर्मा अपने कुछ रिश्तेदारों के साथ अस्पताल पहुंचा था.

पुलिस सूत्रों की मानें तो ललिता देवी हत्याकांड की जांच हत्या के साथ दुष्कर्म के एंगल से भी की जा रही है क्योंकि जंगल में शव जिस हालत में मिला, उससे फिलहाल यही संकेत मिल रहे हैं. मृतका का स्मार्ट फोन और पर्स भी घटनास्थल से नहीं मिला. बुधवार को शव का पोस्टमार्टम भी हुआ लेकिन उससे कुछ स्पष्ट नहीं हो पाया.

इसे भी पढ़ेंःसरकारी स्कूलों के पास नहीं हैं पैसे, 24 सितंबर से खुलेंगे स्कूल तो साफ़ सफाई की व्यवस्था भी नहीं

ram janam hospital
Catalyst IAS

लिहाजा, अब अस्पताल प्रशासन के सुझाव पर पुलिस मृतिका के शव का डीएनए टेस्ट कराने के साथ उसके प्राइवेट पार्ट से भी सैंपल लेकर जांच के लिए भेजने की प्रकिया में जुट गयी है.

The Royal’s
Sanjeevani
Pushpanjali
Pitambara

इधर पुलिस सूत्रों से यह भी पता चला है कि परसन ओपी की पुलिस ने संदेह के आधार पर एक युवक को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया है. हालांकि पुलिस ने इसे इंकार किया है.

इसे भी पढ़ेंःनीतीश कैबिनेट ने किया फैसला- सरकारी कर्मचारियों के डीए में 25 फीसदी की बढ़ोतरी

जानकारी के अनुसार, ललिता देवी मंगलवार सुबह खस्सी खरीदने गांडेय के कारीपहरी गांव स्थित अपनी बहन के घर गई हुई थी. इसके लिए सात हजार रुपए लेते उसकी छोटी बेटी पूजा और सास ने भी देखा था.

ललिता के चार बच्चे हैं- दो बेटियां और दो बेटे. गांव से ललिता को पैदल जाते हुए कई ग्रामीणों ने भी देखा था. लेकिन ललिता अपने बहन के घर नहीं पहुंची. वहीं देर रात उसका शव कोवाड के जंगल में पड़े होने की जानकारी बेटी पूजा समेत ग्रामीणों को मिली.

इसे भी पढ़ेंःलाभुकों को साल में दो बार 10 रुपये में साड़ी-धोती या लुंगी मिलेगी: मुख्यमंत्री

Related Articles

Back to top button