न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

#Giridih: अपनी प्रेमिका के साथ छेड़खानी से नाराज दोस्त ने की थी छात्र की हत्या, सहयोगी के साथ गिरफ्तार

797

Giridih: 17 वर्षीय छात्र रीतेश कुमार चौधरी की हत्या उसके दोस्त सिद्धार्थ कुमार वर्मा ने छोटू यादव के साथ मिलकर की थी. नाबालिग सिद्धार्थ ने अपनी नाबालिग प्रेमिका के साथ रीतेश के गलत व्यवहार के कारण उसकी हत्या की.

गिरिडीह के पचंबा थाना पुलिस ने छोटू यादव को बरगंडा स्थित उसके घर से गिरफ्तार किया. वहीं दूसरे आरोपी सिद्धार्थ को पुलिस ने बेंगाबाद थाना क्षेत्र के चितमाडीह गांव से दबोचने में सफलता पायी.

Aqua Spa Salon 5/02/2020

पुलिस ने हत्या में इस्तेमाल बाइक के साथ खून लगा हुआ लकडी का कुंदा भी जब्त कर लिया. हत्या के बाद दोनों आरोपियों ने मामले को सड़क हादसे में बदलने का प्रयास किया.

इसे भी पढ़ें : #Palamu: शौचालय निर्माण में घोटाले में शोकॉज का जवाब नहीं देने पर पांकी के ब्लॉक कोर्डिनेटर बर्खास्त

पुलिस ने बतायी पूरी कहानी

हत्या के दूसरे दिन गुरुवार को पुलिस लाइन में प्रेसवार्ता कर एसपी सुरेन्द्र झा, डीएसपी संतोष मिश्रा, पुलिस निरीक्षक सहदेव प्रसाद ने बताया कि देवरी के नावाडीह गांव निवासी विजय चौधरी का 17 वर्षीय बेटा रीतेश अपनी मां के साथ सिहोडीह मुहल्ले में एक किराये के मकान में रहता था.

जिस मकान में रीतेश अपनी मां के साथ रहा करता था उसके मालिक की बेटी के साथ सिद्धार्थ का अफेयर चलता था. रीतेश की दोस्ती सिद्धार्थ के साथ भी थी. मकान मालिक की बेटी के साथ सिद्धार्थ वर्मा ने गुपचुच तरीके से शादी कर ली थी.

पूछताछ में सिद्धार्थ ने बताया कि कोचिंग इन्स्टीच्यूट में पढ़ाई के दौरान सिद्धार्थ की दोस्ती पहले रीतेश के साथ हुई. रीतेश से मिलने-जुलने नाम पर सिद्धार्थ अक्सर उसके किराये के मकान में जाया करता था.

वहीं सिद्धार्थ से रीतेश के मकान मालिक की बेटी के साथ एक साल पहले अफेयर हुआ. अफेयर होने के बाद ही सिद्धार्थ ने लड़की से शादी भी कर ली थी.

Related Posts

#Bermo: उद्घाटन के एक माह बाद भी लोगों के लिए नहीं खोला जा सका फ्लाइओवर और जुबली पार्क

144 करोड़ की लागत से बना है, डिप्टी चीफ ने कहा-अगले सप्ताह चालू कर दिया जायेगा

इसे भी पढ़ें : #VBU द्वारा एफिलिएशन फी की वसूली हाइकोर्ट के आदेश का है उल्लंघन

शादी की जानकारी नहीं थी

प्रेसवार्ता के दौरान एसपी ने कहा कि संभवत रीतेश को सिद्धार्थ और उसके मकान मालिक की बेटी की शादी की जानकारी नहीं थी. एक दिन मृतक छात्र रीतेश ने सिद्धार्थ की प्रेमिका के साथ कुछ गलत करने का प्रयास किया.

इसकी जानकारी सिद्धार्थ की प्रेमिका ने सिद्धार्थ को दी. इसके बाद ही रीतेश की हत्या की प्लानिंग सिद्धार्थ ने बनायी और मंगलवार को रीतेश को लेकर वह झरियागादी स्थित अपने मकान मालिक बालगोपाल यादव के घर पहुंचा.

इस दौरान सिद्धार्थ ने मुंशी महतो के बेटे छोटू यादव की बाइक का उपयोग किया. सिद्धार्थ और छोटू यादव ने मिलकर पहले रीतेश को झरियागादी में बालगोपाल यादव के घर गांजा पिलाया.

इसके बाद दोनों रीतेश को लेकर बाजार गये और तिलकुट खरीद कर बनखंजो पहुंचे, जहां सिद्धार्थ और छोटू यादव ने रीतेश के साथ पहले जमकर मारपीट की. इसके बाद सिद्धार्थ ने लकड़ी के कुंदे से बनखंजो पहाड़ के पीछे उसकी हत्या कर दी.

इसे भी पढ़ें : हजारीबाग डीडीसी पर मरीज की पिटाई का आरोप, विरोध में लोगों ने किया रोड जाम

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like