GiridihJharkhand

गिरिडीहः सिख समुदाय ने धूमधाम से मनाया बैसाखी पर्व

Giridih : सिख समुदाय ने बुधवार को गिरिडीह में बैसाखी पर्व मनाया. प्रधान गुरुद्वारे में मुख्य सेवक डॉ. गुणवंत सिंह मोंगिया के नेत्तृव में काफी संख्या में सिख समुदाय के श्रद्धालु शामिल रहे. वहीं पंजाब के पटियाला से आये रागी जत्था भाई जसकरण सिंह और रागी जत्था का गुरवाणी भी सिख श्रद्धालुओं के लिए अमूल्य रहे. मौके पर 48 घंटे से चल रहे अखंड पाठ का समापन हुआ, तो शब्द-कीर्तन भी किया गया.

शब्द-कीर्तन और गुरुवाणी का दौर सुबह से शुरू हुआ, तो दोपहर तक जारी रहा. मौके पर गुरुद्वारे के पूर्व प्रधान सेवक अमरजीत सिंह सलूजा ने कहा कि इस बैसाखी के दिन सिखों के दसवें गुरु गुरु गोंविद सिंह ने खालसा पंथ का स्थापना किया था.

इसे भी पढ़ें:केंद्र ने सीएम हेमंत से राज्य में उड़ान सेवाओं को गति देने पर की बात, नागर विमानन और रांची एयरपोर्ट के बीच होने वाले MOU की ली जानकारी

Catalyst IAS
ram janam hospital

गुरु गोविंद सिंह ने शोषितों और मजलूमों के लिए संघर्ष का मार्ग दिखाया था. इसी मौके पर ही गुरुद्वारे में तीन बच्चों को मोंगिया स्टील के निदेशक और प्रधान सेवक डॉ. गुणवंत सिंह मोंगिया ने सम्मानित किया.

The Royal’s
Sanjeevani

वहीं कार्यक्रम समापन के बाद गुरुद्वारा में लंगर भी रखा गया. इसमें सिखों के साथ कई दूसरे समुदाय के श्रद्धालुओं ने लंगर का प्रसाद लिया.

त्योहार को सफल बनाने में नरेन्द्र सिंह सलूजा, परमजीत सिंह कालू, चरणजीत सिंह सलूजा, देवेन्द्र सिंह, रोमल सिंह, तरणजीत सिंह सलूजा उर्फ बंटी, राजेन्द्र सिंह बग्गा समेत कई सदस्यों ने महत्वपुर्ण भुमिका निभायी.

इसे भी पढ़ें:पंचायत चुनावः ग्राम पंचायतों में बीडीओ को मिली वित्तीय शक्ति

Related Articles

Back to top button