न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

गिरिडीह में 1 करोड़ की अवैध शराब जब्त, बिहार व बंगाल भेजने की थी तैयारी

1,863

Giridih: नए साल के जश्न के लिए गिरिडीह से बंगाल व बिहार भेजने की तैयारी कर रहे शराब माफिया को उत्पाद विभाग ने शुक्रवार को जबरदस्त झटका दिया है. उत्पाद विभाग को यह सफलता एसपी सुरेन्द्र झा को मिली गुप्त सूचना के आधार पर हासिल हुई. उत्पाद विभाग ने करीब 1 करोड़ की कीमत की अवैध शराब से भरी 2 हजार पेटी के बड़े स्टॉक को गिरिडीह के औद्योगिक क्षेत्र के चतरो स्थित एक खाली प्लॉट पर बने गोदाम से जब्त किया.

हालांकि उत्पाद विभाग जब्त पेटियों की संख्या 1600 सौ और कीमत 73 लाख बता रहा है. लेकिन जिस पैमाने पर गोदाम में ब्रांडेड शराब की स्टॉक से भरी पेटियां रखी हुई थी, वह 2 हजार के करीब होंगी. गोदाम से जब्त सारी पेटियों में हरियाणा, पंजाब और ग्वालियर ब्रिकी का स्टीकर चिपका मिला. सारा स्टॉक इंपिरियल ब्लू ब्रांड का है. 12 सौ पेटियों में जहां बड़े बोतलों भरी हुई थी, वहीं 8 सौ पेटियों में छोटे साइज की बोतल भरी हुई थी.

बिहार व बंगाल भेजने की थी तैयारी

खुफिया एजेंसी की मानें तो बिहार और बंगाल के कुछ जिलों में शराब भेजने के लिए इस गोदाम में पूरा स्टॉक डंप किया गया था. गुजरते साल के दौरान गिरिडीह पुलिस व उत्पाद विभाग की यह अब तक के सबसे बड़ी उपलब्धि बताई जा रही है.

क्योंकि चतरो के जिस गोदाम में शुक्रवार की सुबह एसपी झा के निर्देश पर एसडीपीओ जीतवाहन उरांव और उत्पाद अधीक्षक अवधेश सिंह ने पुलिस जवानों के साथ छापेमारी कर 2 हजार पेटी अवैध शराब जब्त की है, वह गिरिडीह-धनबाद के मेन रोड में. लेकिन आबादी के लिहाज से सूनसान है. लिहाजा, प्लॉट को देख यह कहना संभव नहीं है कि प्लॉट से अवैध शराब का कारोबार भी किया जा सकता था.

silk

पुलिस को देख फरार हुए कारोबारी

वैसे छापेमारी के दौरान जब्त अवैध शराब का स्टॉक किसका था और कहां भेजने की तैयारी चल रही थी. इसकी जानकारी जुटाने में पुलिस लग चुकी है. वहीं खुफिया एजेंसी शराब के इस अवैध स्टॉक को पीरटांड के हरलाडीह के डब्लू मंडल का बता रही है. जबकि खाली प्लॉट भी डब्लू मंडल का ही बताया जा रहा है. डब्लू मंडल ने किसी पार्टनर के साथ पूरे प्लांट को अपनी पत्नी के नाम से खरीद रखा है. पूरा प्लॉट करीब 50 एकड़ में फैला हुआ है. इसी प्लॉट में यह गोदाम है. जिसे एसडीपीओ उरांव और उत्पाद अधीक्षक अवधेश सिंह की मौजूदगी में पुलिस जवानों ने बरामद किया.

जानकारी के अनुसार, एसपी झा को शुक्रवार की सुबह गुप्त सूचना मिली थी चतरो के एक खाली प्लॉट में अवैध शराब का स्टॉक पड़ा हुआ है. सूचना देने वाले ने पुलिस को यह भी बताया कि इसमें 13 सौ पेटियों को धनबाद के निरसा के रास्ते बंगाल और 800 सौ पेटियों को बिहार भेजा जाना था. हालांकि यह स्पष्ट नहीं हो पाया कि बंगाल और बिहार के किन-किन जिलों में शराब के इस स्टॉक को भेजना था. प्लॉट के आसपास के कुछ दुकानदारों का कहना था कि प्लॉट में अवैध शराब का अड्डा था. इसकी जानकारी उन लोगों को भी नहीं है. लेकिन बुधवार की देर रात कुछ गाड़ियों को प्लॉट के भीतर जाते देखा गया. गाड़ियों में क्या था, यह बता पाना संभव नहीं है.

इधर, एसडीपीओ उरांव ने बताया कि जिस वक्त छापेमारी हुई, उस वक्त भी कुछ गाड़ियों में गोदाम से शराब की पेटियों को लोड करने की प्रकिया चल रही थी. छापेमारी के दौरान पुलिस को देखते ही लोडिंग में लगे सारे मजदूर दीवार फांद कर फरार होने में सफल रहे. इसके बाद पुलिस गोदाम में रखे शराब को जब्त करने की कार्रवाई में जुट गई.

इसे भी पढ़ेंः देश के 111 जिलों में सबसे पिछड़ा है झारखंड का पाकुड़, नीति आयोग ने जारी की लिस्ट

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: