NEWS

गिरिडीह :  छात्रों का भविष्य देखते हुए SDM ने सात महीने बाद खंडौली इन्स्टीच्यूट खोलने की अनुमति दी

Giridih :  छात्रों के भविष्य को देखते हुए सात महीने बाद गिरिडीह के खंडौली प्रौद्योगिकी इंन्स्टीच्यूट केआइटी को सदर एसडीएम ने खोलने की अनुमति दी. सदर एसडीएम प्रेरणा दीक्षित के निर्देश के बाद बुधवार से केआइटी में शैक्षणिक और गैर शैक्षणिक कार्य भी शुरु कर दिए.

एसडीएम प्रेरणा दीक्षित ने इसकी पुष्टि की. हालांकि केआइटी का संचालन अब बेंगाबाद के अचंलाधिकारी संजय सिंह करेगें. एसडीएम के निर्देश पर केआइटी का रिसीवर बेंगाबाद सीओ को प्रतिनियुक्त किया गया है. केआइटी के संचालन में इन्स्टीच्यूट के ट्रस्टी बोर्ड के सदस्यों में अरविंद मंडल, आशुतोष पांडेय और सचिन सिंह को दूर ही रखा गया है.

इसे भी पढ़ें – हां, मैंने भी गांजा सेवन किया है !

advt

किसी सदस्य का कोई हस्तक्षेप नहीं रहेगा

ट्रस्ट के इन तीनों में से किसी सदस्य का कोई हस्तक्षेप नहीं रहेगा. और ना ही इन तीनों में से किसी को इन्स्टीच्यूट के आसपास रहने की अनुति ही मिली है. जानकारी के अनुसार इन्स्टीच्यूट के शैक्षणिक और गैर शैक्षणिक संचालन की जिम्मेवारी के लिए एसडीएम के निर्देश पर एक प्रभारी प्राचार्य को भी प्रतिनियुक्त किया गया है.

इसे भी पढ़ेंः भीड़तंत्र का हिंसक चेहरा, अपराधी और उग्रवादी भी हो रहे शिकार

16 सितबंर से 20 सितंबर तक फार्म भरने की प्रकिया होगी

बतातें चलें कि एडमिशन और सैमेस्टर छह की परीक्षा के फार्म भरने को लेकर इन्स्टीच्यूट के एक हजार के करीब छात्रों का भविष्य दांव पर लगा हुआ था. तीन दिन पहले ही छात्रों की एक टीम सदर एसडीएम से मिली थी. और फार्म भरकर परीक्षा दिलाने की अपील की थी. जानकारी के अनुसार 16 सितबंर से 20 सितंबर तक फार्म भरने की प्रकिया को पूरा किया जाएगा.

छात्रों की अपील के बाद एसडीएम ने बेंगाबाद के सीओ के साथ बैठक कर इन्स्टीच्यूट को दुबारा खोलने की बात कही. बतातें चले कि सात महीनें पहले इस इन्स्टीच्यूट को एसडीएम के निर्देश पर सील कर दिया गया था. क्योंकि इन्स्टीच्यूट स्वामित्व के विवाद के कारण अरविंद मंडल, आशुतोष पांडेय और सचिन सिंह के बीच हिंसक घटना का संदेह था. फिलहाल पूरे इन्स्टीच्यूट का सफाई कार्य युद्धस्तर पर कराया जा रहा है.

adv

इसे भी पढ़ेंः Bokaro : महिला ने पुलिस पर लगाया आरोप- बेटी के साथ छेड़छाड़ और मारपीट करने के आरोपी पर नहीं हो रही है कार्रवाई

advt
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button