GiridihJharkhand

गिरिडीह: नाली के साथ होना था सड़क निर्माण, ठेकेदार ने बगैर नाली के बना दी सड़क

सहायक अभियंता ने ठेकेदार के कार्य को दी क्लीनचिट, मामला गंभीर देख उप नगर आयुक्त ने दी जांच का आदेश

Giridih: गिरिडीह नगर निगम में 15 वित्त आयोग की राशि (38 लाख) से बरगंडा से लेकर पावर हाउस मोड़ तक बने सड़क निर्माण कार्य में हुए गड़बड़ी को लेकर हंगामा हुआ है. 38 लाख के लागत से नए सड़क के साथ नाली निर्माण का भी कार्य होना था, लेकिन ठेकेदार द्वारा नाली का निर्माण नहीं किया गया है. इतना ही नहीं पूरे रोड में पहले से बिछे पुराने पैबर ब्लॉक को उखाड़ कर ठेकेदार ने शहर के दुसरे पैबर ब्लॉक निर्माण कार्य में लगा दिया.

शहर के स्टेशन रोड के प्रधान गुरुद्वारे के समीप जिस रोड के किनारे पुराने पैबर ब्लॉक को लगाया, उसकी गुणवत्ता भी जांच के दायरे में है. पुराने पैबर ब्लॉक लगाने का कार्य जिला पर्षद द्वारा कराया गया. जिसका भुगतान भी जिला पर्षद द्वारा निगम के इसी ठेकेदार को कर दिया गया. मामला सामने आने पर निगम के एक वार्ड पार्षद रंजीत यादव ने मामले को उठाया. हालांकि वर्ष 2020 के इस योजना को किस ठेकेदार ने कार्य किया है, यह स्पस्ट नहीं हो पाया.

SIP abacus

मामले में निगम के सहायक अभियंता सोमा उरांव ने ठेकेदार के द्वारा किए गए बरगंडा से लेकर पावर हाउस मोड़ तक के सड़क निर्माण कार्य को सही बताया है. इधर वार्ड पार्षद द्वारा मामला उठाने के बाद उप नगर आयुक्त स्मृति कुमारी ने गंभीरता से लेते हुए जांच कराने का निर्देश दिया है. तीन दिन के अंदर जांच रिपोर्ट देने का बात कही है. साथ ही ठेकेदार के भुगतान पर रोक लगाया गया है.

MDLM
Sanjeevani

इसे भी पढ़ें: हाईकोर्ट की फटकार के बाद RIMS ने शुरू की रेगुलर भर्ती की पहल, जानें किन पदों के लिए है मौका

 

Related Articles

Back to top button