Crime NewsGiridihJharkhand

गिरिडीह: प्रतिबंधित संगठन एनएसपीएम के पांच अपराधियों को पुलिस ने दबोचा, हथियार भी बरामद

Giridih: जिले के इकलौते प्रतिबंधित संगठन एनएसपीएम के पांच शातिर अपराधियों को गिरिडीह पुलिस ने गिरफ्तार किया है. इन अपराधियों के पास से सात देसी पिस्तौल, तीन मोबाइल और दो बाइक भी बरामद किया है. गिरफ्तार अपराधियो में पीरतंड के पालगंज निवासी अमित तिवारी, बोकारो के राजेश महतो, निमियाघाट थाना के खेरागढ़ा गांव निवासी पिंटू कुमार, डुमरी के घुटवाली गांव निवासी कृष्णा महतो शामिल है. इन अपराधियों में एक नाबालिग भी शामिल हैं.

पुलिस ने गिरफ्तार नाबालिग अपराधी के घर से सात देसी पिस्तौल बरामद किया है. दो दिन तक हुई छापेमारी के दौरान मिले सफलता के तीसरे दिन बुधवार को प्रेसवार्ता कर एसपी अमित रेनू, एसडीपीओ नौशाद आलम, मुफ्फसिल थाना प्रभारी विनय राम और नीतीश कुमार ने बताया कि गिरफ्तार पांचों अपराधी प्रतिबंधित संगठन एनएसपीएम के सुप्रीमो उमेश गिरी उर्फ उमेश पांडेय उर्फ उमेश दास के नेतृत्व में लूट, डकैती की घटना को अंजाम देते थे. इतना ही नहीं घटना के दौरान दहशहत फैलाने के लिए गिरोह के लोग फायरिंग भी करते थे.

गिरोह के संजीत तिवारी ने कई साथियों के साथ इसी साल फरवरी महीने में लूट के माल का बंटावारे में गड़बड़ी करने के कारण उमेश मंडल की हत्या कर दी थी. इसी गिरोह के अपराधियो ने सरगना उमेश के कहने पर बगोदर के एक पंचायत समिति के सदस्य की भी हत्या कर दी गई थी. प्रेसवार्ता के दौरान एसपी ने जानकारी देते हुए बताया की उमेश गिरी अपने गिरोह के सभी साथियों को ट्रेनिंग देने के साथ उन लोगों को हर माह दस हजार रुपये सैलरी भी देता था. और डकैती के साथ लूट की घटना को अंजाम दिलवाता था. एसपी ने यह भी बताया की गिरोह के चार अपराधियो राजेश महतो, अमित तिवारी, कृष्णा महतो समेत पांचों के खिलाफ बगोदर थाना में ही कई अपराधिक मामले दर्ज हुआ. लिहाजा, इन अपराधियो के खिलाफ जरूरत पड़ने पर डोजियर भी खोला जाएगा. क्योंकि पूरा गिरोह का कनेक्शन बगोदर से जरूर है लेकिन इनका कार्यक्षेत्र बिश्नुगढ़ समेत कई इलाके शामिल है. जहां ये इन घटनाओं को अंजाम देते थे.

इसे भी पढ़ें: देश के दूसरे CDS बने रिटायर्ड ले. जनरल अनिल चौहान

Related Articles

Back to top button