न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

गिरिडीहः बिजली की आंख-मिचौली ने बढ़ाई परेशानी, गोलबंद हुए ग्रामीण

315

Giridih : गिरिडीह सदर प्रखंड के विभिन्न गांवों में बिजली रानी लोगों को रुला रही है.  गहराते बिजली संकट के कारण लोग बेहाल है. गिरिडीह मुफ्फसिल पश्चिमी क्षेत्र के लेदा, सिंदवरिया, बजटो, अलगुन्दा, सेनादोनी, जीतपुर, बेरदोंगा, पालमो, बदगुन्दा आदि पंचायत के सैकड़ों ग्रामीण बिजली विभाग के लचर रवैये से नाराज होकर गोलबंद होने लगे हैं. बिजली विभाग के खिलाफ ग्रामीणों का आक्रोश बढ़ता जा रहा है.

इसे भी पढ़ेंःहेमंत सोरेन के आवास पर दिखी विपक्षी एकजुटता, 5 जुलाई को महाबंद सफल बनाने का हुआ आह्वान

क्या कहते हैं ग्रामीण

बिजली समस्या को लेकर लेदा गांव में भागीरथ मंडल की अगुवाई में एक बैठक भी हुई,  जिसमें बिजली की व्यवस्था में सुधार के लिए आंदोलन शुरू करने पर चर्चा हुई. भागीरथ मंडल ने कहा कि सदर प्रखंड के पश्चिमी क्षेत्र के लोग बिजली की समस्या से हमेशा जूझते रहते हैं. कई-कई दिनों तक इलाके में ब्लैक ऑउट रहता है. हल्की हवा या बारिश के साथ ही बिजली गुम हो जाती है और सप्ताह दिन तक गायब रहती है. जब आती भी है तो आधा-एक घण्टे के लिए. ग्रामीणों ने कहा कि विभाग अगर अपने इस लचर रैवये में सुधार नहीं लाता है तो जनता उग्र आंदोलन करने को बाध्य होगी.

कई गांवों के लिए सिर्फ एक टेक्निशियन

क्षेत्रीय विद्युत टेक्निशियन मो. गफार ने बताया कि इस पूरे क्षेत्र में करीब सैकड़ों गांव आते हैं, लेकिन मेंटेनेंस के लिए सिर्फ एक व्यक्ति की नियुक्ति है. एक व्यक्ति के लिए इतने बड़े क्षेत्र का कार्य संभालना संभव नही है. पुराने तार जर्जर हो चुके हैं, उन्हें आज तक नहीं बदला गया है. इसके कारण बिजली बार-बार बाधित हो जाती है. इसकी सूचना कई बार विभाग को दी गई है, लेकिन आज तक कोई ठोस कदम नहीं उठाया गया.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

%d bloggers like this: