GiridihJharkhand

गिरिडीह: मूसलाधार बारिश में कच्चा मकान ढहने से एक की मौत

Giridih: मूषलाधार बारिश से कच्चा मकान ढह गया, जिसके मलबे में दबने से शुक्रवार देर रात करीब 12 बजे 38 वर्षीय सूरज लाल मुर्मु की मौत हो गई.  घटना का पता लोगों को तब चला जब सुरज मुर्मू की तलाश शुरू की गयी. तलाशने के क्रम में ही परिजन और पुलिस दोपहर उसके गांडेय के बेलडीह गांव स्थित झोपड़ीनुमा घर पहुंचे तो देखा कि सुरज मुर्मू का मकान पूरी तरह ढह चुका है. इस दौरान जब मलबे को हटाया गया तो देखा कि मृतक का शव मलबे के भीतर पड़ा हुआ है.

इसे भी पढ़ें :Big Breaking: एडीजे उत्तम आनंद की मौत की सीबीआई जांच की अनुशंसा

इसके बाद मलबा हटाकर सूरज के शव को बाहर निकाला गया. इस दौरान गांडेय पुलिस ने मृतक के शव को पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल भेज दिया. वैसे मानसून प्रवेश के बाद मूषलाधार बारिश के कारण मकान ढहने से जिले में यह पहली मौत की घटना हुई है.

advt

जानकारी के अनुसार मृतक सुरज मुर्मू गांडेय के चरकमारा गांव का रहने वाला था. उसने दो शादी की थी. शुक्रवार को मूषलाधार बारिश के बीच वह अपनी दूसरी पत्नी के साथ चरकमारा गांव से करीब एक किमी दूर बेलडीह गांव स्थित दूसरा घर देखने गया हुआ था.

इसे भी पढ़ें :बारिश का कहर: 24 घंटों में चार जिलों में 8 की मौत, रांची में पुल टूटा, स्वर्णरेखा में बहा युवक

दूसरे घर में रुकने के बाद अपनी पत्नी को चरकमारा गांव जाने को कहा और खुद कुछ देर में वापस लौटने की बात कही. लेकिन देर रात तक सूरज नहीं लौटा.

दूसरे दिन जब परिजनों ने उसे गांडेय पुलिस के सहयोग से तलाशना शुरू किया को उसका शव उसके बेलडीह गांव स्थित घर के मलबे के अंदर पड़ा मिला. इधर सूरज की मौत पर अफसोस जाहिर करते हुए भाकपा माले के नेता राजेश यादव ने प्रशासन से आश्रितों को मुआवजा देने की मांग की है.

इसे भी पढ़ें :तीरंदाजी में विश्व चैंपियन और ओलंपिक के लिए चयनित दीपिका को राज्य सरकार देगी 50 लाख

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: