न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

गिरिडीह: नो पार्किंग वसूली पर हंगामा, लोगों ने किया प्रदर्शन

विरोध के बाद आयुक्त ने दिया जांच का आदेश

102

Giridih: नगर निगम के नो पार्किंग जोन में निजी ठेकेदार द्वारा जुर्माना वसूली का विवाद गहराता जा रहा है. शनिवार दिन हुए विवाद बाद रविवार को लोगों धरना प्रदर्शन किया. चैम्बर ऑफ़ कॉमर्स की अगुवायी में इस विरोध प्रदर्शन में विरोध प्रदर्शन किया और निगम के ठेकेदार पर गलत तरीके से जुर्माना वसूलने का आरोप लगाया. इस दौरान नगर निगम परिसर में बहुत हंगामा भी देखने को मिला. इस दौरान नगर आयुक्त गणेश कुमार के इस मसले पर जांच तक नो पार्किंग में जुर्माना वसूली प्रक्रिया को स्थगित करने का आश्‍वासन दिया. इस आश्वासन के बाद धरना को समाप्त किया गया.

इसे भी पढ़ें- IAS और IFS से भी नहीं संभला जेपीएससी, दो अध्यक्ष भी नहीं करा सके प्रक्रिया पूरी, लोकसभा चुनाव के बाद…

ठेकेदार के कर्मियों पर बदसलूकी का आरोप

बीते शनिवार को नगर परिषद के पूर्व अध्यक्ष और रेड क्रॉस के सचिव राकेश मोदी की दुकान के पास खड़ी बाइक को टो करने और जुर्माना वसूलने पर अच्छा खासा विवाद खड़ा हो गया था. आरोप है कि निगम ठेकेदार के कर्मियों ने उनके साथ बदसलूकी के साथ धक्का-मुक्की भी की थी. उसके बाद शाम को राकेश मोदी बड़ा चौक मार्ग पर धरने पर बैठ गये. बाद में उनके साथ पूर्व नप अध्यक्ष दिनेश यादव, गिरिडीह चैम्बर के अध्यक्ष निर्मल झुनझुनवाला समेत कई लोग धरने पर बैठ गये. विवाद बढ़ने पर मेयर सुनिल पासवान और नगर आयुक्त गणेश कुमार द्वारा जांच के आश्वासन के बाद धरना समाप्त हुआ. इसी तरह शनिवार को ही टावर चौक के पास लंगटा बाबा कॉलेज के प्राचार्य कमल नयन सिंह के साथ भी ठेकेदार के कर्मियों ने उनके साथ बदसलूकी की. प्रोफेसर कमल नयन ने बताया कि वह दिल के मरीज हैं. दवा खरीदने के लिए पांच मिनट दवा दुकान के पास रूके थे, तभी ठेकेदार के लोगों ने गलत तरीके से जर्माना वसूलने के बाद बदसलूकी की. लोगों का आरोप है कि नो पार्किंग जुर्माना वसूलने के नाम पर शहर में गुंडागर्दी हो रही है. रविवार को नगर निगम में चैम्बर ऑफ़ कॉमर्स के प्रतिनिधिमंडल और अन्य लोगों ने निगम के सभागार में आयुक्त के साथ वार्ता की, लेकिन निगम अधिकारी के असहयोगपूर्ण रवैये और कोई निष्कर्ष नहीं निकलने के कारण सभी निगम परिसर में ही धरने पर बैठ गये.

इसे भी पढ़ें- हॉस्पिटल में चल रहा है आधार कार्ड बनाने का काम, बेड पर मरीजों के बजाय नजर आ रही है मशीन

नो पार्किंग के नाम पर गुंडागर्दी का आरोप

रविवार को चैम्बर ऑफ कॉमर्स की अगुवाई में लोग निगम परिसर में धरने पर बैठ गये. इसमें गिरिडीह चैम्बर के अध्यक्ष निर्मल झुनझुनवाला, अधिवक्ता संघ के महासचिव चुन्नूकांत, पूर्व नप अध्यक्ष दिनेश प्रसाद यादव, पूर्व नप उपाध्यक्ष राकेश मोदी, चैम्बर के प्रदीप जैन, विकास खेतान, प्रमोद कुमार, प्रदीप अग्रवाल, सुनिल मोदी, विवेश जालान समेत शहर के कई लोग शामिल हुए. बाद में गिरिडीह विधायक निर्भय कुमार शाहाबादी भी इसमें शामिल हुए. गिरिडीह विधायक ने कहा कि निगम द्वारा अभी तक नो पार्किंग जोन चिन्हित ही नहीं है, तो इसके नाम पर जुर्माना कैसे वसूल सकता है. टैक्स वसूलने के नाम पर नागरिकों के साथ दुर्व्यवहार  चिंता की बात है. गिरिडीह चैम्बर के अध्यक्ष निर्मल झुनझुनवाला ने कहा कि नगर निगम अवैध तरीके से नो पर्किंग का जुर्माना वसूल रहा है. बिना किसी टेंडर और प्रक्रिया के गलत तरीके से ठेकेदारों को मनमानी करने की छूट निगम ने दे रखी है. यह सब निगम के अधिकारियों की मिलीभगत से हो रहा है. अधिवक्ता संघ के महासचिव चुन्नूकांत ने कहा कि बगैर किसी नोटिस या सूचना दिए निगम ने नो पार्किंग जुर्माना वसूलने की प्रक्रिया शुरू कर दी है, जो की सरासर गलत है. नो पार्किंग जोन के नाम पर शहर के नागरिकों को प्रताड़ित किया जा रहा है. ऐसा होता रहेगा तो लोग विरोध में सड़कों पर उतरेंगे ही. नप के पूर्व उपाध्यक्ष राकेश मोदी ने आरोप लगाया कि नो पर्किंग जुर्माना वसूलने वाले कर्मी शराब पीकर सरेआम गुंडागर्दी करते हैं.

इसे भी पढ़ें- दर-दर की ठोकर खा रहा दिव्यांग, 2003 में नौकरी से किया गया था बाहर

दुर्गा पूजा तक नो पार्किंग जुर्माना प्रक्रिया रहेगी बंद

हंगामे और विवाद के बाद नगर आयुक्त गणेश कुमार ने कहा कि चैम्बर के आवेदन के बाद इस मसले पर ठेकेदार से स्पष्टीकरण पूछा गया है. जांच होने तक और दुर्गा पूजा में नो पर्किंग जोन में जुर्माना की प्रक्रिया बंद रहेगी.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

%d bloggers like this: