Court NewsJharkhandRanchi

गिरिडीह : फर्जी जाति प्रमाण पत्र के मामले में फरार चल रहे मेयर सुनील पासवान को हाईकोर्ट से मिली अग्रिम जमानत

Ranchi :  गिरिडीह के मेयर सुनील पासवान को झारखंड हाईकोर्ट से बड़ी राहत मिली है. उन पर मेयर के चुनाव में फर्जी कास्ट सर्टिफिकेट की मदद से आरक्षण का लाभ लेने का आरोप है. इस मामले में मेयर सुनील पासवान को झारखंड हाईकोर्ट ने अग्रिम जमानत दे दी है. सुनील पासवान के खिलाफ मुफस्सिल थाना में 3 मार्च को प्राथमिकी दर्ज की गयी थी. जिसके बाद से वह फरार चल रहे थे.

Jharkhand Rai

इसे भी पढ़ेंः 46,79893 छात्रों में 6 लाख को मिल रहा डिजिटल कंटेंट, 2 मिनट में 30 सेकेंड भी वीडियो नहीं देखते बच्चे

तीन मार्च को दर्ज हुई थी प्राथमिकी

ज्ञात हो कि सुनील पासवान वर्ष 2018 में गिरिडीह के मेयर के रूप में निर्वाचित हुए हैं. और तब से उन पर चुनाव के दौरान नामांकन में गलत जाति प्रमाण पत्र लगाने का आरोप लग रहा है. इस मामले में प्राथमिकी दर्ज होने के बाद उन्होंने गिरिडीह जिला अदालत में जमानत के लिए अर्जी दाखिल की थी. जिसे नामंजूर कर दिया गया था. इसके बाद सुनील पासवान ने झारखंड हाईकोर्ट में अग्रिम जमानत के लिए गुहार लगाई थी

झारखंड हाई कोर्ट के न्यायाधीश जस्टिस आर मुखोपाध्याय की कि अदालत ने दोनों पक्षों को सुनने के बाद गिरिडीह मेयर सुनील पासवान को 10-10 हजार के दो निजी मुचलके की शर्त पर जमानत दी है.

Samford

इसे भी पढ़ेंः भारत-चीन के सैनिकों में फिर झड़प, 29-30 अगस्त की रात पैंगौंग झील में घुसपैठ की थी कोशिश

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: