न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

गिरिडीह : आठ साल पहले हुए #murder के केस में छह को आजीवन कारावास  

644

Giridih : हत्या के मामले में गिरिडीह के चतुर्थ एडीजे ध्रुव चंद मिश्रा की अदालत ने सोमवार को छह आरोपियों को आजीवन कारावास की सजा सुनायी. साथ ही हर आरोपी को 10-10 हजार का जुर्माना भी लगाया. जुर्माने का भुगतान नहीं होने पर छह माह की अतिरिक्त सजा भुगतने का निर्देश दिया.

हत्या का यह मामला गिरिडीह के देवरी थाना क्षेत्र के देवरी गांव का साल 2011 का है. आठ साल पुराने हत्या के मामले में अब तक 10 से अधिक गवाही के साथ 60 पेज की चार्जशीट देवरी पुलिस ने कोर्ट में जमा किया.

Sport House

इसे भी पढ़ें : आंगनबाड़ी बहन सामने बेहोश होकर गिरी तो हेमंत ने कहा- एक भी महिला की मौत हुई तो सरकार को जीने नहीं देंगे

किन-किन को हुई सजा

देवरी पुलिस द्वारा सौंपी गयी चार्जशीट और सरकारी वकील अजय साह व बचाव पक्ष के वकील प्रीतम पॉल सिंह की बहस पर कोर्ट ने आठ साल पुराने हत्या के इस मामले में देवरी गांव के वासुदेव गिरि, सुधीर गिरि, बलदेव गिरि, रामदेव गिरि, इन्द्रदेव गिरि और गौतम गिरि को आरोपी मानते हुए सोमवार को सजा सुनायी.

50 पेज के फैसले में चतुर्थ एडीजे ध्रुव चंद मिश्रा ने सभी आरोपियों को आजीवन कारावास की सजा सुनायी. सजा सुनाने के बाद जब सभी आरोपियों को कोर्ट परिसर से पुलिस कर्मी ले जाने लगे, तो दो-तीन आरोपियों ने न्यूज कवर कर रहे प्रेस छायाकारों को अपशब्द कहे. इस पर पुलिस कर्मी सभी आरोपियों को डांटते-फटकारते हुए बाहर ले गये.

Vision House 17/01/2020

इसे भी पढ़ें : सीएम ने कहा, बची हुई ग्रामीण महिलाओं को #UjjwalaScheme से 30 सितंबर तक जोड़ दिया जायेगा

Related Posts

धारदार हथियार से की गयी थी हत्या

कोर्ट से मिली जानकारी के अनुसार देवरी गांव निवासी कांग्रेस गिरि आठ साल पहले 16 अगस्त 2011 को रात करीब आठ बजे देवरी गांव स्थित अपने किराना की दुकान बंद कर घर लौट रहे थे. उनका बेटा महेन्द्र गिरि कुछ दूरी पर ही अपने पिता के पीछे चल रहा था.

SP Deoghar

कांग्रेस गिरि जब गांव के गौतम गिरि के घर के समीप से गुजरे, तो गौतम के साथ उसके परिवार के इन्द्रदेव गिरि, सुधीर गिरि, बलदेव गिरि, रामदेव गिरि अपने पिता वासुदेव गिरी के साथ घर से लाठी और धारदार हथियार लिये घर से निकला.

इस दौरान गौतम गिरि और इन्द्रदेव गिरि ने किसी प्रकार कांग्रेस गिरि को घर घुसाने का प्रयास करते हुए, उनके हाथ में 15 हजार नगद रुपये से भरे थैली को छीनने का प्रयास किया. लेकिन गौतम और इन्द्रदेव को झटका देकर कांग्रेस गौतम के घर से बचकर भागने में सफल रहा.

यह सब देख महेन्द्र ने हल्ला करना शुरू किया. भागते कांग्रेस गिरि के पीछे गौतम और इन्द्रदेव लाठी व धारदार हथियार लेकर दौड़े. घर के समीप गौतम अपने परिवार के सदस्यों के साथ कांग्रेस गिरि को घेरकर उसे लाठियों से पीटने लगा.

इसी बीच बलदेव और रामदेव ने धारदार हथियार से कांग्रेस गिरि के सिर पर वार किया जिससे कांग्रेस गिरि की मौत हो गयी. हत्या की इस घटना के बाद मृतक के बेटे महेन्द्र के फर्द बयान पर देवरी थाना में थाना कांड संख्या 106/19 दर्ज किया गया था.

इसे भी पढ़ें : 18 को जामताड़ा में मुख्यमंत्री की जनआशीर्वाद यात्रा शुरू करेंगे राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह

Mayfair 2-1-2020

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like