GiridihJharkhand

गिरिडीह कुशवाहा संघ ने किया साहित्य अकादमी पुरस्कार पानेवाले नाटककार दया प्रकाश का पुतला फूंका

चक्रवर्ती सम्राट अशोक की तुलना मुगल शासक औरगंजेब से किए जाने का कथित मामला

Giridih : नाटककार दया प्रकाश सिन्हा द्वारा देश के चक्रवर्ती सम्राट अशोक की तुलना मुगल शासक औरगंजेब से किए जाने के कथित मामले में लोगों का गुस्सा लगातार बढ़ता जा रहा है. इस मामले को लेकर गुरुवार को गिरिडीह कुशवाहा संघ ने शहर में प्रदर्शन करते हुए नाटककार दया प्रकाश सिन्हा का पुतला दहन किया.

कुशवाहा संघ के इंद्रलाल वर्मा, नरेश वर्मा, दिनेश वर्मा, सुरेन्द्र कुशवाहा, कैलाश वर्मा समेत कई सदस्य झंडा मैदान से नाटककार का पुतला लिए निकले. इन लोगों ने नाटककार के खिलाफ शहर भर में प्रदर्शन करते हुए जमकर नारेबाजी की.

प्रदर्शनकारियों ने इस दौरान राष्ट्रपति और पीएम से नाटककार दया प्रकाश सिन्हा को मिले पद्मश्री और साहित्य अकादमी पुरस्कार वापस लेने की भी मांग की.

ram janam hospital
Catalyst IAS

इसे भी पढ़ें:राष्ट्रीय मतदाता दिवसः ऑनलाइन होगा प्रतियोगिता का आयोजन

The Royal’s
Sanjeevani
Pushpanjali
Pitambara

टावर चौक पर जलाया पुतला

प्रदर्शनकारियों ने कहा कि जिस व्यक्ति को देश के इतिहास की जानकारी नहीं है. वैसे लोगों को इतने महत्पूर्ण अवार्ड से क्यों नवाजा गया ? ऐसे में कुशवाहा संघ सरकार से अपील करता है कि तुरंत दया सिन्हा के अवार्ड वापस लिया जाये.

शहर भ्रमण करते हुए कुशवाहा संघ के प्रदर्शनकारी टावर चौक पहुंचे और चौक में नाटककार दया प्रकाश सिन्हा का पुतला दहन किया. मौके पर मधुसूदन महतो, बजरंगी महतो, भुनेशवर महतो समेत कई लोग मौजूद थे.

इसे भी पढ़ें:कुंदन पाहन की जमानत याचिका खारिज, एनआइए के स्पेशल कोर्ट का फैसला

Related Articles

Back to top button