GiridihJharkhand

गिरिडीह :   सूबे का वित्तीय अधिकार छीनने के विरोध में झामुमो ने पीएम मोदी का जलाया पुतला

भाजपा सरकार के कारनामों को अब जन-जन पहुंचाया जायेगा : सुदिव्य कुमार सोनू

Giridih :  राज्य सरकार का वित्तीय अधिकार छीनने से गुस्साये झामुमो की गिरिडीह कमेटी ने मंगलवार को पीएम नरेन्द्र मोदी का पुतला दहन किया. शहर के टावर चौक में झामुमो कार्यकर्ता सदर प्रखंड के कार्यालय से पुतला दहन के लिए निकले.

Jharkhand Rai

शहर के आधे हिस्से का भ्रमण करते हुए झामुमो कार्यकर्ता टावर चौक पहुंचे. जहां विधायक सुदिव्य कुमार सोनू के साथ पूर्व विधायक निजामुद्दीन अंसारी, पार्टी के अध्यक्ष संजय सिंह भी शामिल हुए.

इसे भी पढ़ेंः एक साल से ‘सोया’ हुआ है झारखंड आंदोलनकारियों को ‘पहचानने’ वाला आयोग, दफ्तर में धूल फांक रहे 42 हजार आवेदन

मोदी सरकार के खिलाफ नारेबाजी की गयी

प्रदर्शन करते झामुमो कार्यकर्ता.

दरअसल मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने केंद्र सरकार के उस सुझाव को ठुकरा दिया है जिसमें बकाया जीएसटी क्षतिपूर्ति के लिए केंद्रीय वित्त मंत्रालय से लोन लेने को कहा गया है. दरअसल केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमन ने 15 अक्टूबर को मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को एक पत्र लिखा है.

Samford

पत्र में केंद्रीय मंत्री ने वित्त मंत्रालय के दिशा-निर्देशों के तहत जीएसटी मुआवजा की राशि देने के बदले करोड़ों रुपये का कर्ज लेने का सुझाव दिया है. इसी बात को लेकर मोदी सरकार के खिलाफ नारेबाजी की गयी.

इसे भी पढ़ेंः जानिए, पुष्पम प्रिया की प्लूरल्स पार्टी ने बिहार के लोगों को दिये कौन से आठ ‘वचन’

झारखंड के कोयले से देश को बिजली मिलती है

कार्यकर्ता हाथों में देनदारी की मांग को लेकर तख्तियां हाथों में थाम कर पीएम का विरोध कर रहे थे. टावर चौक में विरोध प्रदर्शन के दौरान विधायक सोनू ने कहा कि झारखंड के कोयले से देश को बिजली मिलती है. ये जानते हुए भी पीएम मोदी झारखंड के अधिकार को छीन रहे हैं.

विधायक ने केन्द्र की भाजपा की सरकार को अहंकारी बताते हुए कहा कि संघीय ढांचे पर इसी प्रकार हमला होता रहा तो झामुमो चुप नहीं बैठने वाला है. बल्कि, केन्द्र की मोदी सरकार के कारनामों को जन-जन तक पहुंचायेगा.

पुतला दहन कार्यक्रम में झामुमो नेत्री प्रमिला मेहरा, शाहनवाज अंसारी, इरशाद अहमद वारिस, निर्भय सिंह, दिलीप रजक, रॉकी सिंह, बंटी केडिया, शिवपूजन कुमार, अजीत कुमार पप्पू समेत कई कार्यकर्ता मौजूद थे.

इसे भी पढ़ेंः तेजस्वी आये नीतीश के निशाने पर, कहा, बिना ज्ञान के नौकरियां देने का वादा करने वाले कहीं अपना धंधा न चालू कर दें

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: