GiridihJharkhand

मुख्यमंत्री हेमंत का काफिला रोकने की कोशिश के खिलाफ गिरिडीह झामुमो ने किया बाबूलाल मरांडी का पुतला दहन

रघुवर सरकार के कार्यकाल में हुए दुष्कर्म और हत्या की घटनाओं पर भाजपा क्यों खामोश है : सरफराज अहमद

Giridih : मुख्यमंत्री के काफिले को रोकने की कोशिश के विरोध में गिरिडीह झामुमो ने मंगलवार को भाजपा नेता बाबूलाल मरांडी का पुतला दहन किया गया. पार्टी अध्यक्ष संजय सिंह के नेतृत्व में कार्यकर्ता बाबूलाल मरांडी का पुतला लिए पार्टी आफिस से निकल कर शहर में प्रदर्शन करते हुए टॉवर चौक पहुंचे और यहां पुतला दहन किया गया.

इसे भी पढ़ेःजवानों ने शहादत देकर जैप वन का नाम किया है बुलंद : नीरज सिन्हा

इस दौरान गांडेय विधायक सरफराज अहमद के साथ शाहनवाज अंसारी, अजित कुमार पप्पू, महिला नेत्री प्रमिला मेहरा, सोनी चौरसिया, अभय सिंह, शिवपूजन, रॉकी सिंह, टूना सिंह, चिंतामणि वर्मा, दिलीप रजक, सईद अंसारी समेत कई मौजूद थे.
इधर, हमले के विरोध में पार्टी आफिस में प्रेसवार्ता कर अध्यक्ष संजय सिंह और विधायक सरफराज अहमद ने घटना की निंदा करते हुए कहा कि मुख्यमंत्री के काफिले को रोकने की कोशिश लोकतंत्र पर हमले के समान है. सत्ता जाने से भाजपा बौखलाहट में है. विधायक सरफराज ने कहा कि ये भाजपा और बजरंग दल की गुंडागर्दी है.

advt

इसे भी पढ़ेःधनबाद में कार चोरी, रपट दर्ज

ऐसे में पार्टी सरकार से मांग करती है कि भाजपा और बजरंग दल के अराजक तत्वों को चिहिनत कर सरकार कार्रवाई करे. विधायक ने कहा प्रेसवार्ता के क्रम में एनसीआरबी के आंकड़ों का जिक्र करते हुए कहा कि रघुवर सरकार के कार्याकाल में 2014 से 2018 के बीच राज्य में हुए पांच हज़ार से अधिक दुष्कर्म के मामलों पर बोलने का हिम्मत क्यों नहीं करती. क्यों रघुवर सरकार के कार्याकाल में घटनाओं पर भाजपा खामोश है. सोमवार की शाम को रांची में घटना के विरोध में कानून अपना काम कर रही है. लिहाजा, झामुमो सिर्फ सरकार से मांग करती है कि रांची में हुए प्रेप्लानिंग की घटना पर दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करे.

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: