GiridihJharkhand

गिरिडीह :  नगर निगम को करोड़ो का राजस्व देने वाले ढाई दर्जन मुहल्ले में नहीं हो रही है पर्याप्त जलापूर्ति

Giridih :  भीषण गर्मी में शहर के ढाई दर्जन मुहल्लों की पौने दो लाख की आबादी तीन दिनों से पानी के लिए तरस रही है. सोमवार को हल्ला-हंगामा होने के बाद मंगलवार को कुछ मुहल्लों में पेयजलापूर्ति हुई.

लेकिन कुछ मिनटों के लिए.  इस दौरान जिन मुहल्लों में पेयजलापूर्ति हुई, वहां के लोगों ने कहा कि पानी का प्रेशर कम था. उसमें भी कुछ मिनट ही पानी चला. इसके बाद फिर बंद हो गया.

इसे भी पढ़ेंः #SuperCyclone: एनडीआरएफ प्रमुख एसएन प्रधान ने कहा- पहली बार हम दो-दो आपदाओं से एक साथ लड़ रहे हैं

Catalyst IAS
ram janam hospital

इधर खराब पेयजलापूर्ति के मामले में पक्ष-विपक्ष दोनों ही चुप्पी साधे हुए हैं. यहां तक कि नगर निगम भी चुप ही है. जबकि स्थानीय प्रशासन भी इस भीषण गर्मी के बीच खामोश है.

The Royal’s
Sanjeevani

जाहिर है कि जब सभी चुप हैं तो इतनी बड़ी आबादी को दो बूंद पानी की समस्या झेलना आम बात है. शहर के जिन हिस्सों में पेयजलापूर्ति ठप है, वहां से निगम को होल्डिंग धारकों से करोड़ो रुपये का राजस्व मिलता है.

इसे भी पढ़ेंः #Dhanbad: लेनदेन के विवाद में बंद चानक से धक्का देकर कर दी थी हत्या, एक गिरफ्तार

जानकारी मिली है कि शहर के पुराना जेल परिसर स्थित 20 लाख गैलन के जलमीनार की चाभी के कुछ उपकरण खराब हो गए हैं. जिसे बीते रविवार को पेयजलापूर्ति के ठेकेदार बूना अग्रवाल ने लगाया था. लेकिन चाभी खोली गई, तो उपकरण दुबारा खराब हो गए.

ठेकेदार की लापरवाही की जानकारी जब नगर आयुक्त अनिल राय को मिली, तो बूना अग्रवाल को फटकार तो लगाते हुए तुंरत उपकरणों को बदलने का निर्देश दिया. लेकिन खराब पड़े उपकरणों के नहीं बदले जाने के कारण मंगलवार को जैसे-तैसे कुछ हिस्सों में ही पेयजलापूर्ति हुई.

वहीं दूसरा कारण खंडौली डैम के पेयजलापूर्ति के नए प्लांट को पर्याप्त बिजली आपूर्ति नहीं होना भी है. लेकिन डैम के पुराने प्लांट को पर्याप्त बिजली मिल रही है. इसकी जानकारी प्लांट में कार्यरत कर्मियों ने ही दी.

खंडौली के नए प्लांट को बिजली नहीं मिलने की जानकारी बिजली बोर्ड के पदाधिकारियों से ली गई. कार्यपालक अभियंता को तीन बार कॉल करने के बाद भी कोई रिस्पांस नहीं मिला.

जबकि एसई ने मामले की जानकारी होने से सीधा हाथ खड़ा कर दिया. हालांकि एसई ने खंडौली को हर हाल में बिजली आपूर्ति करने का सख्त निर्देश देने का दावा किया.

खंडौली डैम स्थित नए वाटर ट्रीटमेंट प्लांट से हर रोज 19 लाख गैलन पानी की आपूर्ति पुराना जेल स्थित जलमीनार से होती है. इसी जलमीनार से शहर के मकतपुर रोड, मकतपुर चौक, बरमसिया, जयप्रकाश नगर, अरगाघाट, पंजाबी मुहल्ला, बरगंडा, न्यू बरगंडा, आश्रम रोड, राजपूत मुहल्ला, चंदौरी रोड, बक्सीडीह रोड, मेट्रोस गली समेत ढाई दर्जन मुहल्लों में पेयजलापूर्ति होती है. इन मुहल्लों की आबादी ही करीब पौने दो लाख से अधिक है.

इसे भी पढ़ेंः #Dhanbad : मुंबई से पुरुलिया के लिए कंटेनर में सवार होकर चले थे 35 मजदूर, झरिया के पास पकड़े गये

One Comment

  1. 587963 414016As I web site possessor I believe the content material here is rattling great , appreciate it for your efforts. You should keep it up forever! Good Luck. 449312

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button