GiridihJharkhand

गिरिडीह : रेलवे अधिकारियों के साथ उद्योगपतियों की बैठक, गिरिडीह-कोलकाता इंटरसिटी एक्सप्रेस शुरू करने का प्रस्ताव

Giridih : धनबाद रेल डिवीजन के अधिकारियों के साथ गिरिडीह के उद्योगपतियों की महत्वपूर्ण बैठक हुई. बुधवार को औद्योगिक क्षेत्र के मंझलाडीह स्थित अतिवीर समूह के चाईना प्लांट में बैठक का आयोजन किया गया था.
बैठक में रेल डिवीजन के एडीआरएम आशीष कुमार, सीनियर एसईडीओएम पंकज कुमार और सीनियर डीसीएम ए. के पांडेय भी शामिल हुए.

वहीं उद्यमियों में लौह उद्योगपति सह सलूजा गोल्ड के निदेशक अरमजीत सिंह सलूजा, टफकॉन स्टील के निदेशक मोहन साव, सलूजा गोल्ड के ही तरनजीत सिंह सलूजा उर्फ बंटी, अतिवीर समूह के संतोष सरावगी, गुड्डु सरावगी और टींकू सरावगी समेत चैंबर ऑफ कॉमर्स के सचिव निर्मल झुनझूनवाला व भाजपा नेता चुन्नूकांत और दीपक पंडित शामिल हुए.

इसे भी पढ़ेंःIPL 2021 में फिर कोरोना की एंट्री, दिल्ली के खिलाफ मैच के पहले सनराइजर्स हैदराबाद का ये खिलाड़ी निकला कोरोना संक्रमित

advt

बैठक में उद्योगपतियों ने रेल डिवीजन के अधिकारियों के समक्ष खुशी जाहिर करते हुए कहा कि करीब 20 सालों बाद गिरिडीह में रैक प्वांईट की सेवा शुरु हुई है. रैक प्वाइंट से रॉ मटेरियल आने से शुरु हो गये हैं, इसका सीधा फायदा स्थानीय उद्योगपतियों को मिलेगा.

अमरजीत सिंह सलूजा, टींकू सरावगी और मोहन साव ने मौके पर एडीआरएम को रैक प्वाइंट के लिए शुरू किए गए रूट को कोडरमा वाया से हटाकर मधुपूर वाया आसनसोल करने का प्रस्ताव दिया. जिससे दूरी और कम हो सके. जिससे मालभाड़े में भी कमी आ सके.

adv

इसे भी पढ़ेंःरघुवर ने राज्यपाल से की लातेहार डीसी को निलंबित करने की मांग, कहा- विधायक बंधु तिर्की की भूमिका भी संदिग्ध

जिले के बेंगाबाद थाना क्षेत्र के न्यू गिरिडीह स्टेशन के समीप बने रैक प्वाइंट के समीप लाइट की व्यवस्था की जरुरत बतायी गयी.

उद्योगपतियों से मिले सुझाव को लेकर एडीआरएम ने कहा कि एक बार गिरिडीह के साभी उद्योगपति रेलवे स्टेशन के पास बने रैक प्वाइंट का निरीक्षण करें, निरीक्षण के दौरान जो समस्याएं आएगी उसे नवरात्र से पहले दुरुस्त कर लिया जायेगा. उद्योगपतियों ने रेल सुविधा बढ़ाने के लिए एक ज्ञापन भी रेलवे के अधिकारियों को सौंपा.

जिसमें जसीडीह-वाया-झाझा-गिरिडीह रेलवे सेवा का विस्तार, गिरिडीह से कोलकाता के लिए इंटरसिटी एक्सप्रेस ट्रेन देने की मांग शामिल है.

इसे भी पढ़ेंःभारत से ब्रिटेन की यात्रा करने वाले लोगों को राहत, ब्रिटेन ने दी ‘कोविशील्ड’ को मान्यता

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: