Corona_UpdatesGiridihJharkhand

GIRIDIH: रघुवर और अन्नपूर्णा ने हेमंत सरकार को बताया माफिया की कठपुतली

  • कोरोना से निपटने की चुनौती विषय पर सेमिनार का आयोजन
  • जमीन, बालू और कोयला लूटने वाले को संरक्षण देने वाली सरकार को क्या कहें: रघुवर दास
  • पूरे कोरोना काल में विपक्ष सोया रहा, जब जागा तो मोदी सरकार को कोसना किया शुरू: अन्नपूर्णा देवी

Giridih: गिरिडीह भाजपा कमेटी की ओर से शुक्रवार को हरिचक स्थित पार्टी के जिला कार्यालय में सेमिनार का आयोजन किया गया. पार्टी ने कोरोना से निपटने की चुनौती विषय पर सेमिनार का आयोजन किया था, जिसमें पूर्व सीएम रघुवर दास के साथ कोडरमा सांसद अन्नपूर्णा देवी, बिहार महिला मोर्चा की प्रदेश उपाध्यक्ष शालिनी बैशखियार, मांडू विधायक जयप्रकाश भाई पटेल और जमुआ विधायक केदार हाजरा समेत जिले के पूर्व विधायक भी शामिल हुए.

Advt

भाजपा ने सेमिनार का आयोजन कार्यकर्ताओं को कोरोना से निपटने के टिप्स देने पर रखा था. लेकिन सेमिनार में बतौर मुख्य अतिथि शामिल हुए पूर्व सीएम रघुवर दास ने वर्तमान हेमंत सरकार पर जमकर भड़ास निकाली.

इसे भी पढ़ें :GOOD NEWS : रेल यात्री ध्यान दें, गरीब रथ, ताज एक्सप्रेस सहित 32 ट्रेनें फिर से दौड़ेंगी पटरी पर

पूर्व सीएम दास ने वर्तमान सीएम हेमंत सरकार को माफियाओं की कठपुतली बताते हुए कहा कि बालू, कोयला के साथ अब राज्य की सरकारी जमीन को लूटा जा रहा है और हेमंत सरकार का संरक्षण वैसे लोगों को हासिल है.

इस सरकार को अब माफियाओं द्वारा ही चलाया जा रहा है. बीडीओ-सीओ के तबादले में पैसों की उगाही हो रही है तो बड़े-बड़े पद भी पैसों के बलबूते ही बांटे जा रहे हैं.

पूर्व सीएम ने कार्यकर्ताओं द्वारा संक्रमण काल में जनता के बीच किए गए कार्यो की तारीफ करते हुए कहा कि जिस वक्त संक्रमण पीक पर था और लोगों की सांसे टूट रही थीं, उस वक्त भाजयुमो के कार्यकर्ता खुद को जोखिम में डालकर संक्रमण से लड़ने वालों का सहयोग कर रहे थे. कहा कि कई विकसित देशों ने कोरोना के कारण घुटने टेक दिये.

लेकिन जनता ने एक उम्मीदों वाला पीएम चुना तो पीएम मोदी उम्मीदों को टूटने कैसे देते. लिहाजा, पिछले एक साल में महामारी के बीच मोदी सरकार ने चुनौतियों से निपटने के लिए ऑक्सीजन प्लांट बनाने शुरू कर दिये.

कहा कि आत्मनिर्भर भारत की झलक इसी कोरोना काल में दिखी जब देश में एक साल के भीतर ही पीपीई किट का निर्माण शुरू कर दिया गया. इतना ही नही दो स्वदेशी वैक्सीन बनी और अब तक पूरे देश में 33 करोड़ लोगों को वैक्सीन लगायी गयी क्योंकि 195 देशों में भारत पांचवें स्थान पर है जिसने खुद की दो स्वदेशी वैक्सीन का निर्माण किया.

इसे भी पढ़ें :Jharkhand News : सरकारी विभाग का एक और कारनामा, जिंदा महिला का बनाया मृत्यु प्रमाण पत्र

लेकिन विपक्ष ने जो गंदी राजनीतिक की, वो दिखा कि किस प्रकार जनता को भ्रमित किया जा सकता है जब वैक्सीन लगाने को लेकर भ्रम पैदा कर दिया गया.

पूर्व सीएम ने संबोधन के दौरान कार्यकर्ताओं से कहा कि वो भी सोशल मीडिया में सक्रिय रहें और विपक्ष के हर भ्रमित करने वाली बातों का जवाब सोशल मीडिया में देना शुरू करें.

पूर्व सीएम ने कांग्रेस समेत तमाम विपक्षी दलों पर भड़ास निकालते हुए कहा कि टुकड़े-टुकड़े गैंग समेत पूरा विपक्ष सोशल मीडिया में सक्रिय है. ऐसे में उसे जवाब देना हर कार्यकर्ता के लिए जरूरी है.

कहा कि भाजपा का लक्ष्य सेवा ही संगठन है और इसी मूलमंत्र पर भाजपा अब तक देश की सेवा करती आई है. हर कार्यकर्ताओं को यह समझना चाहिए.

इधर सेमिनार को संबोधित करते हुए कोडरमा सांसद अन्नपूर्णा देवी ने कहा कि पहले पीएम मोदी ने देश को बचाने के लिए लॉकडाउन किया तो गरीबों की चिंता करते हुए उन तक राशन पहुंचाने की व्यवस्था भी की.

सांसद अन्नपूर्णा देवी ने कहा कि जनधन खाते के माध्यम से पैसे गरीबों के खातों तक पहुंचा लेकिन विपक्ष नींद में सोया रहा. और जब जागा तो मोदी सरकार पर हमले शुरू कर दिए.

सांसद ने कहा कि सीएम हेमंत सोरेन से लेकर मंत्री तक वैक्सीन को लेकर भ्रम पैदा करते रहे. और अब झारखंड में सबसे अधिक वैक्सीन की बर्बादी भी शुरू कर दी गयी. इसके लिए हेमंत सरकार को सामने आ कर बोलना चाहिए.

सेमिनार में मौजूद कार्यकर्ताओं से सांसद ने कहा कि कोविद-19 निपटने की चुनौती भाजपा का राष्ट्रीय स्तर पर चलाया जा रहा कार्यक्रम है. ऐसे में एक-एक कार्यकर्ता इसे खुद को जोड़ें.

इधर सेमिनार को मांडु विधायक जयप्रकाश भाई पटेल, जमुआ विधायक केदार हाजरा ने भी संबोधित किया, जबकि सेमिनार में पूर्व विधायक निर्भय शाहाबादी, जयप्रकाश वर्मा, जिलाध्यक्ष महादेव दुबे, धनवार प्रत्याशी लक्ष्मण सिंह, पूर्व विधायक लक्ष्मण स्वर्णकार, किसान मोर्चा के जिलाध्यक्ष दिलीप वर्मा, प्रदेश कार्यसमिति सदस्य सुरेश साव, भाजयुमो अध्यक्ष रंजीत राय, महिला मोर्चा की प्रर्देश उपाध्यक्ष विनीता कुमारी, संजीत सिंह पप्पू, नवीन सिन्हा और संतोष गुप्ता समेत जिले के 32 मंडल अध्यक्ष सेमिनार में शामिल हुए.

इसे भी पढ़ें :JHARKHAND: सड़क, पुल और भवनों की 1800 करोड़ की योजनाएं जांच के दायरे में

Advt

Related Articles

Back to top button