GiridihJharkhand

गिरिडीह: थाना से महज तीन सौ मीटर की दूरी पर चल रहा था माइका और ढिबरा का अवैध कारोबार, खनन विभाग के अधिकारियों ने मारा छापा

Giridih: जिले के तिसरी में अवैध रुप से संचालित माइका और ढिबरा के चार गोदाम और दो कारखानों को सोमवार की देर शाम सील किया गया. धनवार एसडीएम धीरेन्द्र सिंह के साथ एएसपी हारिश-बिन-जमां के साथ जिला खनन पदाधिकारी सतीश नायक और इलाके के एसडीपीओ मुकेश महतो ने दो कारखानों और चार गोदाम को सील किया गया. माइका और ढिबरा का अवैध कारोबार तिसरी थाना से महज तीन सौ मीटर की दूरी पर चल रहा था. दोनों कारखानों और चार गोदामों से करोड़ो रुपये का माइका और ढिबरा जब्त किए गए हैं.

जानकारी के अनुसार एएसपी और एसडीएम के नेत्तृव में अधिकारियों की टीम ने सबसे पहले तिसरी के डिपो रोड के समीप गोविंद सिंह का गोदाम खुलवाया. जहां बड़े पैमाने पर अवैध ढिबरा जब्त किया गया. जानकारी के अनुसार गोविंद सिंह के इस ढिबरा गोदाम में काफी सालों से ढिबरा का अवैध कारोबार चल रहा था. इसके बाद अधिकारियों की टीम तिसरी के चंदन बरनवाल के गोदाम का जांच करने पहुंची. जहां बड़े पैमाने पर अवैध माइका और ढिबरा भंडारण पहले से किया गया था. इस दौरान जब टीम तिसरी के पंचदेव बरनवाल के ठिकानों पर पहुंची, तो वहां कार्यरत मुंशी मेन गेट पर ताला लगाकर फरार हो चुका था. लिहाजा, गोदाम का ताला तोड़कर अधिकारी भीतर पहुंचे. जहां बड़े पैमाने पर बोरे में फ्लैक्स भरा हुआ पाया गया. इसके बाद अधिकारी विनोद बरनवाल के गोदाम पहुंचे, तो यहां भी गोदाम और कारखानें का गेट तोड़कर ही अधिकारियों की टीम भीतर पहुंच पाई. जहां कई बड़े कमरों में अवैध माइका और ढिबरा का भंडारण चोरी-छिपे भेजने की तैयारी की जा रही थी. जबकि कच्चे माल का स्टॉक भी पीसाई के लिए रखा हुआ था. तिसरी थाना के करीब बड़े पैमाने पर माइका और ढिबरा के अवैध कारोबार होता देख अधिकारी की टीम भी दंग रह गई कि आखिर थाना प्रभारी को इन अवैध कारोबार की भनक तक नहीं लगी.

इसे भी पढ़ें : गिरिडीह के धनवार में संदिग्ध परिस्थितियों में विवाहिता की मौत, ससुराल वालों पर हत्या का आरोप

 

ram janam hospital
Catalyst IAS

Related Articles

Back to top button