न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

गिरिडीह : ट्रांसपोर्टर कंपनी एनके स्टील के संचालक पर 3.62 लाख रुपये का जुर्माना

35

Giridih : परमिट के खेल में उलझाकर सेल टैक्स विभाग को चूना लगाने का प्रयास कर रहे लौह कारोबारी सह ट्रांसपोर्टर कंपनी एनके स्टील के मालवाहक वाहन को जब्त कर गिरिडीह सेल टैक्स विभाग ने कंपनी के संचालक पर तीन लाख 62 हजार रुपये का जुर्माना लगाया है. इस मामले का खुलासा बुधवार को कंपनी द्वारा दिये परमिट समेत अन्य दस्तावेजों की जांच के बाद हुआ. कंपनी के दिये गये परमिट समेत अन्य दस्तावेजों की जांच के दौरान पायी गयीं गड़बड़ियों को देख सेल टैक्स विभाग के कान खड़े हो गये. इसके बाद विभाग के डीसी शंकर दयाल के निर्देश पर वाणिज्य कर पदाधिकारी देवाशीष ने कंपनी के प्रोपराइटर नीलेश राम को कार्यालय बुलाया, जहां कंपनी की गड़बड़ियों से प्रोपराइटर को अवगत कराया गया. हालांकि, प्रोपराइटर का दावा है कि उनके पास जितने दस्तावेज और परमिट हैं, वे पूरी तरह से दुरुस्त हैं. लिहाजा, विभाग ने जो आरोप लगाकर कंपनी पर जुर्माना लगाया है, वह पूरी तरह से गलत है. इधर, विभागीय पदाधिकारी देवाशीष ने बताया कि एमके स्टील के मालवाहक वाहन में वॉयर रॉड लोड था, जिसका परमिट पटना सेल टैक्स से कोलकाता लीलुआ पहुंचाने का बनाया गया था.

परमिट जारी होने से पहले ही माल लेकर चल पड़ा था कंपनी का ट्रक

पूरे मामले में दिलचस्प बात यह रही कि 22 जनवरी को ही पटना सेल टैक्स कार्यालय से कंपनी ने परमिट के लिए ऑनलाइन आवेदन दिया, जबकि कार्यालय से परमिट निर्गत होने से पहले ही कंपनी का रॉड लदा ट्रक धनबाद के चिरकुंडा टोल प्लाजा होते हुए गिरिडीह के औद्योगिक क्षेत्र स्थित मोहनपुर घुस गया. इसी दौरान गिरिडीह सेल टैक्स के पदाधिकारी ताराटांड थाना से कुछ दूरी के पहले वाहन जांच कर रहे थे. इसी बीच रॉड लदे ट्रक को गुजरते देख पदाधिकारियों ने कंपनी के ट्रक को रोकने का प्रयास किया, लेकिन पदाधिकारियों की बातों को अनसुना कर चालक ने ट्रक लेकर बचने का प्रयास किया. लेकिन, पदाधिकारियों ने खदेड़कर ट्रक को रुकवाया और चालक से परमिट समेत अन्य दस्तावेज दिखाने को कहा. चालक ने पटना से कोलकाता का परमिट दिखाया. इसके बाद सेल टैक्स पदाधिकारियों ने ट्रक को जब्त कर ताराटांड़ थाना पुलिस को सौंप दिया.

Related Posts

गिरिडीह : बार-बार ड्रेस बदलकर सामने आ रही थी महिलायें, बच्चा चोर समझ लोगों ने घेरा

पुलिस ने पूछताछ की तो उन महिलाओं ने खुद को राजस्थान की निवासी बताया और कहा कि वे वहां सूखा पड़ जाने के कारण इस क्षेत्र में भीख मांगने आयी हैं

इसे भी पढ़ें- देवघरः मधुपुर से हर दिन 250 से अधिक ट्रक बालू अवैध तरीके से भेजा जा रहा बिहार

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
%d bloggers like this: