GiridihJharkhand

गिरिडीह :  संदिग्ध मरीजों में दिख रहा कोरोना का खौफ, मंगलवार को एक और मरीज सदर अस्पताल से भागा

Giridih :  कोरोना को लेकर फैले भय के कारण ही अब स्थिति यह है कि संदिग्ध मरीज भी आईसोलेशन वार्ड में भर्ती होने से कतरा कर भाग रहे हैं. मंगलवार को एक बार फिर एक मरीज सदर अस्पताल से भाग गया. मरीज को शहर के डॉक्टर्स लाईन स्थित एक जांच घर से स्वास्थ कर्मी लेकर पहुंचे थे.

उसे आईसोलेशन वार्ड में भर्ती कराने की प्रकिया चल रही थी. इसी दौरान मरीज किसी प्रकार स्वास्थ कर्मियों को चकमा देकर अपने बाईक से भागने में सफल रहा. अस्पताल से भागे मरीज की पहचान पीरटांड के सियागीं गांव निवासी अनिल कुमार के रूप में की गयी है.

इसे भी पढ़ेंः #Corona का खौफ: छह दिनों में साढ़े 4 हजार रेल यात्रियों ने कैंसिल कराये अपने टिकट

ये पता नहीं चल पाया कि मरीज कोरोना संक्रमित है या नहीं

अनिल कुमार मंगलवार को बाईक से अस्पताल के समीप जांच घर में कोरोना का संदेह होने पर खुद जांच कराने पहुंचा था. लेकिन उसे वाकई कोरोना है या नहीं, यह स्पस्ट नहीं हो पाया. हालांकि जांच घर के संचालक का कहना था कि अनिल जब जांच कराने पहुंचा, तो वह खांस रहा था.

advt

इस दौरान जांच घर के संचालक ने अनिल को बताया भी कि कोरोना की कोई जांच गिरिडीह में संभव नहीं है. जांच घर के संचालक ने मामले की गंभीरता को देखते हुए जानकारी अस्पताल प्रबंधन को दी. इसके बाद अस्पताल के स्वास्थ कर्मी उसे लेकर अस्पताल पहुंचे. लेकिन वो भाग गया.

बीते सोमवार को भी 25 वर्षीय छात्र जीतेन्द्र कुमार भी अस्पताल के आईसोलेशन वार्ड से अपने पिता के सहयोग से भागने में सफल रहा. उसे भी संदेह के आधार पर 14 दिनों के लिए आईसोलेशन वार्ड में भर्ती कराया गया था.

इसे भी पढ़ेंः जनगणना प्रपत्र में अन्य धर्म कॉलम हटाने का विरोध, मंत्री का आश्वसन- सरना धर्म कोड के लिए प्रस्ताव पारित कर केंद्र को भेजेंगे

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: