Court NewsGiridihJharkhand

Giridih: राष्ट्रीय लोक अदालत में 1155 मामलों का निष्पादन, 3 करोड़ 43 लाख का राजस्व हासिल

बेवजह के मुकदमों से निपटने का सुलभ रास्ता है लोक अदालतः जस्टिस अपरेश सिंह

Giridih: शनिवार को गिरिडीह न्यायलय में आयोजित राष्ट्रीय लोक अदालत का उद्घाटन हाई कोर्ट के जस्टिस अपरेश सिंह और गिरिडीह की प्रधान जिला एंव सत्र न्यायधीश वीणा मिश्रा ने दीप जलाकर किया. लंबित केसों को निपटाने के लिए जितनी बेचों का गठन किया गया था, उसमें वन विभाग और उत्पाद विभाग के बेंच में संख्या सबसे अधिक रही.

इसे भी पढ़ें : BIG NEWS : आतंकियों से संबंध रखने की वजह से 11 सरकारी कर्मचारियों को किया बर्खास्त

विभागीय कर्मियों के साथ वादी बगैर नियमों का पालन करते हुए अपने-अपने मामलों को सुलझाने में लगे थे. न्यायालय परिसर में आयोजित लोक अदालत के दौरान कई वादियों के लंबित मामलों का निष्पादन किया गया तो सड़क हादसे में मारे गए लोगों के आश्रितों के बीच जस्टिस और प्रधान जिला एंव सत्र न्यायधीश ने 14 लाख 17 हजार के चेक का भुगतान किया.

ram janam hospital
Catalyst IAS

कोरोना काल में लंबे वक्त के बाद लगे लोक अदालत के मौके पर जस्टिस अपरेश सिंह ने कहा कि कोरोना महामारी के बीच इस लोक अदालत के आयोजन का मकसद बेवजह के केसों का निष्पादन करना है क्योंकि कुछ मुकदमों में अनावश्यक लोग फंसने के बाद सिर्फ परेशान होते हैं.

The Royal’s
Sanjeevani
Pitambara
Pushpanjali

इसे भी पढ़ें :साथ चलते कार्यकर्ता का हाथ लगा तो गुस्साये कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष ने मार थप्पड़, देखें VIDEO

इधर जिला विधिक सेवा प्राधिकार के निर्देश पर आयोजन स्थल में नौ पीठों का गठन किया गया था. इसमें उत्पाद विभाग, बैंक वाद, माप-तौल विभाग, वन विभाग, बिजली विभाग और वाहन दूर्घटना क्लेम वाद समेत अन्य पीठ शामिल थे.

राष्ट्रीय स्तर पर लगी लोक अदालत में इन विभागों से जुड़े 1155 मामलों का निष्पादन हुआ. इसमें प्री-लिटीगेशन के 566 तो 589 लंबित मामले शामिल थे.

इन मामलों के निष्पादन से कई विभागों को तीन करोड़ 43 लाख और 94 हजार का राजस्व हासिल हुआ. वहीं लोक अदालत को सफल बनाने में विधिक सेवा प्राधिकार के सचिव संदीप कुमार बर्तम समेत कई न्यायिक पदाधिकारियों की भूमिका रही.

इसे भी पढ़ें :पलामू: वर्चुअल और हाइब्रिड तरीके से लगी लोक अदालत, 534 मामले निपटाए गए, एक करोड़ से अधिक का सेटलमेंट

Related Articles

Back to top button