Crime NewsGiridihJharkhand

गिरिडीह : शादी का झांसा देकर दारोगा ने किया यौन शोषण, निलंबित

Giridih: जिले में पदस्थापित दारोगा पर एक विधवा महिला ने शादी का झांसा देकर यौन शोषण करने का आरोप लगाया है. मामले में त्वरित कार्रवाई करते हुए एसपी ने दारोगा को निलंबित कर दिया.

Jharkhand Rai

मुफस्सिल थाना क्षेत्र की रहने वाली विधवा महिला बगोदर थाना के दरोगा भैयाराम उरांव पर यह  आरोप लगाया है. महिला ने एसपी से शिकायत में कहा है कि दारोगा भैयाराम उरांव ने पहले शादी का झांसा दिया और यौन शोषण किया लेकिन बाद में शादी से इनकार कर दिया. उन्होंने जेल भेजने की धमकी भी दी.

इसे भी पढ़ें- सुजीत सिन्हा गिरोह ने जारी किया वीडियो, कहा – पुलिस के मुखबिर मांग रहे सुजीत सिन्हा के नाम पर रंगदारी

जबरन बनाया शारीरिक संबंध

वर्ष 2017 में एसआइ भैयाराम मुफस्सिल थाना में पदस्थापित थे. पीड़िता सामाजिक गतिविधियों में भाग लेने के कारण अक्सर थाने आया करती थी. इसी दौरान दारोगा ने महिला से कहा कि उसकी पत्नी का मौत हो गयी है और बच्चे बाहर पढ़ते हैं इसलिए खाना पकाने के लिए किसी को खोज दे.

Samford

जिसके बाद पीड़िता ने एक महिला को उनके पास काम पर रखवाया. इसके बाद महिला और दारोगा में बातचीत शुरू हो गयी. 2018 में एसआइ का स्थानांतरण मधुबन थाना हो गया. वहां से भी वह उससे बातचीत करता रहा. उसने होली पर मधुबन में लगने वाले मेले में महिला को बुलाया. महिला जब वहां पहुंची तो दारोगा ने उसके साथ जबरन शारीरिक संबंध बनाया.

इसे भी पढ़ें- बिना टेंडर के ही बोकारो डीसी आवास में बन गया 40 लाख का गौशाला, सचिव ने कहा जांच और कार्रवाई होगी

शादी से किया इनकार

महिला ने बताया कि दरोगा उसे अक्सर बुलाया करता था. और शादी का झांसा देकर उसके साथ शारीरिक संबंध बनाता रहा. इसी दौरान दरोगा को बगोदर थाना में पदस्थापित किया गया.

वहां भाड़े का घर लेकर उसने महिला को पत्नी की तरह एक महीने तक रखा. जिसके बाद पिछले महीने 12 जुलाई को एक महिला उस घर आयी और खुद को एसआइ की पत्नी बताकर झगड़ने लगी.

इसपर झगड़े के बाद एसआइ ने पीड़िता को ही घर से भगा दिया. साथ ही उसने दारोगा होने की धौंस दिखाकर मुकदमा करने, झूठे मुकदमे में जेल भेजने व जान से मारने की धमकीभी दी. जिसके बाद पीड़ित महिला ने एसपी को आवेदन देकर न्याय की गुहार लगायी है.

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: