GiridihJharkhand

Giridih: वन भूमि पर लंगटा बाबा स्टील फैक्ट्री चलाने के मामले में सीओ ने प्रबंधन को जारी किया नोटिस

 

Giridih: जंगल किस्म की जमीन पर कब्जा कर छड़ फैक्ट्री चला रहे गिरिडीह के लंगटा बाबा स्टील समेत तीन औद्योगिक इकाइयों को शनिवार को सदर अचंल के सीओ रवीन्द्र सिन्हा ने नोटिस जारी किया है. वार्ड पार्षद पप्पू रजक की शिकायत के आधार पर सदर एसडीएम प्रेरणा दीक्षित, सीओ रवीन्द्र सिन्हा ने जांच के दौरान पार्षद के शिकायत को सही पाया था.

इसके बाद इस मामले से संबंधित खबरों को लगातार न्यूजविंग द्वारा प्रमुखता से प्रकाशित किया जा रहा था. न्यूजविंग में लंगटा बाबा स्टील फैक्ट्री के मालिक मोहन साव और महादेव साव व आरएन सिंह द्वारा जंगल किस्म के जमीन को कब्जा कर फैक्ट्री चलाने से जुड़ी आ रही खबरों को स्थानीय प्रशासन ने भी गंभीरता से लिया.

एसडीएम के निर्देश पर शनिवार को सीओ रवीन्द्र सिन्हा ने लंगटा बाबा स्टील फैक्ट्री प्रबंधन समेत महादेव प्रसाद साव और आरएन सिंह को नोटिस जारी कर 23 जुलाई तक अपना पक्ष रखने का आदेश दिया है.

इसे भी पढ़ें – झारखंड में कोरोना से 24वीं मौत, गिरिडीह के अधेड़ ने मेदांता में तोड़ा दम

प्लॉट की जमाबंदी को अवैध करार दिया

जानकारी के अनुसार टीएमटी फैक्ट्री प्रबंधन टफकॉन स्टील कंपनी लंगटा बाबा स्टील समेत तीनों को वन संरक्षण अधिनियम की धारा 1980 के तहत नोटिस जारी कर प्लॉट के सारे दस्तावेजों की मांग की गयी है.

जारी नोटिस में सीओ ने हरसिंगरायडीह मौजा के खाता नंबर 12 और प्लॉट नंबर 1023 के रकबा 30 एकड़ 81 डिस्मिल जमीन को पूरी तरह से जंगल किस्म की जमीन बताया है और जीएम लैंड बताकर लंगटा बाबा स्टील के प्लॉट की जमाबंदी को अवैध करार देते हुए केस चलाने की बात कही है.

वाद संख्या 1/2 और तीन 2020-2021 में तीनों के प्लॉट की जमाबंदी को अवैध बताकर ही कार्रवाई शुरू करने की बात कही है. इधर नोटिस जारी होने के बाद लंगटा बाबा स्टील फैक्ट्री प्रबंधन समेत तीनों की परेशानी बढ़ना तय माना जा रहा है क्योंकि पार्षद पप्पू ने सीधे तौर पर जंगल किस्म की भूमि पर कब्जा कर लंगटा बाबा स्टील फैक्ट्री चलाने का आरोप लगाया था.

इसे भी पढ़ें –Corona: मेदांता के डॉक्टर, जैप के DSP व दो मीडियाकर्मी समेत 142 नये संक्रमित मिले, झारखंड का आंकड़ा 3660

अन्य दो लोगों पर भी ऐसे ही आरोप

कमोबेश, यही आरोप पप्पू रजक ने महादेव साव और आरएन सिंह पर भी लगाया है. इसके बाद एसडीएम और सीओ ने मामले को गंभीरता से लेते हुए जांच शुरू की.

शुरुआती जांच के दौरान खातियान 1911 के आधार पर लंगटा बाबा स्टील के प्लॉट व महादेव साव और आरएन सिंह के प्लॉट को जंगल किस्म की जमीन होने के रूप में सामने आया. इसी आधार पर लंगटा बाबा स्टील फैक्ट्री को नोटिस जारी कर जवाब मांगा गया है.

इधर हरसिंगरायडीह के खाता नंबर 12 के प्लॉट नंबर 1023 की जंगल किस्म की जमीन पर टफकॉन फैक्ट्री के संचालन और सीओ द्वारा नोटिस जारी किये जाने से जुड़े सवाल पर फैक्ट्री के निदेशक सूरज गुप्ता ने कहा कि जल्द ही इस मुद्दे पर फैक्ट्री प्रबंधन द्वारा प्रेसवार्ता कर सच्चाई को सार्वजनिक किया जायेगा. निदेशक ने कहा कि फैक्ट्री प्रबंधन को अब तक कोई नोटिस नहीं मिला है.

इसे भी पढ़ें – Sci&Tech : मोबाइल पर टिंडर, स्पॉटीफाई और पिन्ट्रैस्ट का इस्तेमाल करते हैं तो ये खबर आपके लिए है… 

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: