Crime NewsGiridihJharkhand

गिरिडीह : सगे भाइयों की हत्या के खिलाफ भाजपा ने निकाला प्रतिवाद मार्च

Giridih : चंदन और अंशु बरनवाल हत्याकांड के आरोप में बिहार के खैरा थाना पुलिस ने दिवाकर मंडल और कारु मिंया को जेल भेज दिया है. मृतक भाइयों के छोटे भाई कुंदन बरनवाल के आवेदन पर खैरा थाना पुलिस ने चार लोगों को नामजद अभियुक्त बनाया है.

इसमें कारु मियां, दिवाकर मंडल, पीर बाबा उर्फ प्रभाकर मंडल और देवा रविदास शामिल हैं. इसमें दो आरोपियों को जेल भेज दिया गया है. वहीं मुख्य आरोपी पीर बाबा और देवा अब भी फरार है.

हत्याकांड के विरोध में शुक्रवार को धनवार के भाजपा कमेटी ने बाजार में प्रतिवाद मार्च निकाला. भाजपा के प्रतिवाद मार्च में पवन साव, सांसद प्रतिनिधी उदय सिंह, नकुल राय, शंभू बरनवाल, राजेन्द्र अग्रवाल, सूनील अग्रवाल, आलोक अग्रवाल, पंकज सिंह, महेन्द्र चैधरी, अनिल पांडेय, सोहन यादव समेत कई कार्यकर्ता रहे.

advt

से भी पढ़ें :कोविशील्ड की 5 लाख 30 हजार डोज पहुंची

भाजपा के प्रतिवाद मार्च में शामिल कार्यकर्ताओं ने इस दौरान माले नेताओं के खिलाफ जमकर नारेबाजी की. जहां माले पर झूठी राजनीति चमकाने का आरोप लगाया. भाजपा कार्यकर्ताओं ने कहा कि भाकपा माले की गंदी राजनीतिक के कारण ही पूरे इलाके की जनता हमेशा परेशान रही है.

से भी पढ़ें :अतिक्रमण हटाओ अभियान से बेघर हुए लोगों का छलका दर्द- भगवान का पिंडा तो छोड़ देते

प्रतिवाद मार्च निकाल कर भाजपा कार्यकर्ताओं ने सरकार व प्रशासन से चंदन व अंशु हत्याकांड के आरोपियों को गिरफ्तार करने और परिजनों को मुआवजा देने का मांग की है.

पुलिस सूत्र बता रहे हैं कि सगे भाइयों की हत्या का कारण प्रभाकर मंडल उर्फ पीर बाबा ही है. बिहार के जमुई जिले के खैरा थाना पुलिस की जांच और जेल भेजे गए दोनों आरोपियों से पूछताछ में कई बातें निकल कर सामने आयी है.

फिलहाल पुलिस यही मानकर चल रही है कि दोनों भाइयों की हत्या 35 लाख रूपये के दबाव के कारण ही पीर बाबा ने अपने इन्हीं तीन साथियों के साथ मिलकर कराई है. बता दें कि मामले में पहले भी पिर बाबा को हिरासत में लिया गया था.

से भी पढ़ें :खनन के लिए दी गयी जमीन का 56 हजार करोड़ बकाये का भुगतान करे कोल इंडियाः मुख्यमंत्री

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: