न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

GIRIDIH: भाजपा नेता सह जिप उपाध्यक्ष को कोयला तस्कर हर सप्ताह पहुंचाते हैं मोटी रकम, तस्करों के पास से जब्त डायरी से हुआ खुलासा

डायरी में और भी कई सफेदपोशों के नाम और उनको पहुंचायी जानेवाली रकम का है जिक्र

150

Giridih: सतीघाट में कोयले की अवैध खदान का संचालन करने के साथ तस्कर हर सप्ताह कोयले की कमाई की मोटी रकम गिरिडीह के जिप उपाध्यक्ष सह भाजपा नेता कामेशवर पासवान को देते हैं. इसका खुलासा शनिवार को सतीघाट से पचंबा पुलिस के हत्थे चढ़े दो तस्करों ने पुलिस के समक्ष किया है.

mi banner add

तस्करों बयान दिया है कि भाजपा नेता सह जिप उपाध्यक्ष कामेश्वर पासवान को कोयले की कमाई में से महीनों से हिस्सा पहुंचाया जा रहा है. हालांकि उनका नाम अब सामने आया है. गिरफ्तार कोयला तस्कर मो अजीम ने पुलिस के समक्ष ये खुलासा किया है.

इन तस्करों के पास से एक डायरी भी मिली है. इस डायरी में कामेशवर पासवान समेत तमाम तस्करों के नाम और उनको पहुंचायी जाने वाली रकम का जिक्र है. डायरी और अजीम के बयान के आधार पर पचंबा पुलिस ने जांच शुरू कर दी है.

इसे भी पढ़ेंः जब मुकदमा चलानेवाले एनआइए जैसे हों, तो बचाव में वकील रखने की क्या जरूरत है

क्या कहते हैं डीएसपी और पचम्बा पुलिस

इस मामले में डीएसपी टू संतोष मिश्रा का कहना है कि जब नाम सामने आया है तो किसी भी सूरत में किसी को नहीं बख्शा जायेगा. उन्होंने कहा कि जांच पूरी हो जाने के बाद कार्रवाई होगी. पचंबा थाना प्रभारी शर्मानंद सिंह ने कहा कि जिस प्रकार का बयान सामने आया है, वो चौंकाने वाला है.

भाजपा नेता के जांच में दोषी पाये जाने पर वरीय अधिकारियों के निर्देश पर आगे की कार्रवाई होगी. हालांकि तस्करों के पास से मिली डायरी में कई और बातों का जिक्र है. जिसके बारे में कुछ बताने से फिलहाल पचम्बा पुलिस इनकर कर रही है.

इसे भी पढ़ेंः झाविमो सुप्रीमो बाबूलाल मरांडी ने कहा- विरोधी कुछ भी कह लें, मैं राजनीति के मैदान में डेड पॉलिटिशियन नहीं हूं (देखें इंटरव्यू))

पासवान ने आरोपों पर दी अपनी सफायी

मामला सामने आने के बाद भाजपा नेता सह जिप उपाध्यक्ष कामेशवर पासवान ने दोनों तस्करों की ओर से लगाये गये आरोपों से इनकार किया है. कहा है कि उनके बढ़ते राजनीतिक कद की वजह से यह साजिश रची जा रही है.

ये कई नयी बात नहीः राजेश यादव, माले

जिप उपाध्यक्ष का नाम सामने आने के बाद भाकपा माले नेता राजेश यादव ने कहा कि ये कोई नयी बात नहीं है. कोयले की अवैध कमायी में अधिकांश भाजपा नेता ही हैं. इस प्रकरण के बाद पुलिस के लिए सफेदफोश नेताओं पर कार्रवाई के लिए रास्ता आसान हो गया है.

ये है पूरा मामला  

शुक्रवार देर रात पुलिस को मिली गुप्त सूचना के बाद डीएसपी टू संतोष मिश्रा के नेत्तृव में छापेमारी टीम का गठन कर सतीघाट में कार्रवाई की गयी. देर रात चले अभियान के दौरान सतीघाट में पीरटांड के रामलाल हेम्ब्रम और पचंबा थाना के गुहियाटांड निवासी मो अजीम को पुलिस दबोचने में सफल रही.

मो अजीम के पास से पुलिस ने दो मोबाइल व एक डायरी बरामद किया. जिसमें एक मोबाइल अजीम का बताया जा रहा है. पुलिस के अनुसार दूसरा मोबाइल किसी प्रमोद मंडल का है. दोनों ही मोबाइल में कई सफेदफोश कोयला तस्करों के नाम मौजूद होने की बात सामने आ रही है. इस डायरी में इस बात का जिक्र है कि कोयले की अवैध कमाई का हिस्सा कहां-कहां और किन-किन सफेदफोशों के यहां पहुंचाया जा रहा है.

साथ ही अवैध खदानों में लगे मजदूरों को कितनी मजदूरी दी जानी है. से मजदूरों को कितना मजदूरी दिया जाना है. जब्त डायरी और दोनों मोबाइल को पुलिस खंगालने में जुटी हुई है.

इसे भी पढ़ेंः मैं हूं चौकीदार कार्यक्रम को लेकर जिला प्रशासन चौकस

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
%d bloggers like this: