GiridihJharkhand

गिरिडीहः पैतृक संपत्ति पर हक पाने के लिए यूनिफॉर्म पहन अनशन पर बैठे वायुसेना के अफसर

डीसी बोले- यह वायुसेना के प्रोटोकॉल का उल्लंघन, अफसर ने कहा- हक के लिए संघर्ष कर रहा हूं

Giridih : पैतृक संपति से जबरन बेदखल किए जाने के विरोध में भारतीय वायु सेना में पोस्टेड सेकेंड इन कमांडेट विनय सिंह अपनी पत्नी के साथ गिरिडीह समाहरणालय के समीप अनिश्चितकालीन अनशन शुरू कर दिया. हालांकि वायु सेना के कमांडेट के किए जा रहे अनिश्चितकालीन अनशन पर डीसी राहुल सिन्हा ने भी हैरानी जाहिर की है. कहा कि यूनिफार्म में रक्षा मंत्रालय के कोई अधिकारी और जवान इस प्रकार अनशन कैसे कर सकते हैं. क्योंकि वायु सेना के पदाधिकारी का पद एक संवैधानिक पद है. प्रोटोकॉल इसकी अनुमति नहीं देता.

इसे भी पढ़ेः पलामू: रेलवे ट्रेक के किनारे बाइक को मालगाड़ी ने लिया चपेट में, भांजे ने तोड़ा दम- मामा गंभीर

डीसी ने वार्ता के लिए अधिकारी भेजा

डीसी ने मामले की गंभीरता समझते हुए संज्ञान में लिया. और एक पदाधिकारी को उनके पास वार्ता के लिए भेजा. इधर पत्नी रीना सिंह के साथ अनशन पर बैठे कमांडेट वीके सिंह ने कहा कि वह यूनिफार्म में भी अनशन पर बैठ सकते हैं. क्योंकि वह किसी सरकारी संस्थान और देश के विरोध में नहीं अनशन शुरू कर रहे हैं. बल्कि, अपने अधिकार की लड़ाई के लिए वह अनशन कर रहे हैं. वैसे इसकी जानकारी वे अपने सीनियर अधिकारियों को दे चुके हैं.

इसे भी पढ़ेः 40 हजार में बेची गयी झारखंड की बेटी को पुलिस ने कराया आजाद

क्या है मामला

इस बीच पत्नी के साथ अनशन पर बैठे कमांडेट वीके सिंह का कहना है कि जब तक उनका अधिकार नहीं मिलेगा, उनका अनशन आगे भी जारी रहेगा. कहा कि गिरिडीह के बिरनी प्रखंड बेदापहरी गांव में उनके दादा भागीरथ सिंह द्वारा दी गयी पैतृक संपति है. लेकिन वह हिमाचल के मनाली में पोस्टेड हैं और पत्नी के साथ मनाली में ही रहते हैं. इस बीच अवकाश लेकर वह परिवार के साथ घर लौटे, तो दोनों भाई रवीन्द्र सिंह और वीरेन्द्र सिंह ने उनको घर में घुसने नहीं दिया.

दोनों भाइयों ने अपशब्दों का प्रयोग करते हुए जान से मारने तक की धमकी दी. वायु सेना के अधिकारी ने दोनों भाइयों की साजिश में पिता नकुलदेव सिंह के मिले होने का आरोप लगाया है. इधर पत्नी रीना सिंह ने कहा कि जब तक उनके पति का अधिकारी नहीं मिल जाता है वो पति के साथ अनशन पर बैठेंगी.

इसे भी पढ़ेः नशेड़ी, रिश्वतखोर, कुत्ते की पूंछ, दलाल, मेंटल, चोट्टा ….और क्या-क्या न कह डाला!

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: