GiridihJharkhand

GIRIDIH:  राहत की बात- 15 कोरोना संदिग्धों के ब्लड सैंपल जांच के लिए भेजे गये थे, सभी निगेटिव निकले

Giridih :  कोरोना के राज्य भर में 13 नए केस और एक की मौत के बाद अब लॉकडाउन की तिथि आगे बढ़ेगी, या नहीं. यह फिलहाल भविष्य के गर्भ में है. लेकिन लॉकडाउन के खत्म होने की तिथि नजदीक आते ही गिरिडीह शहर में लॉकडाउन के दौरान सामाजिक दूरी की धज्जियां किस प्रकार उड़ रही हैं. यह शुक्रवार की सुबह ही नजर आया.

जब एक साथ शहर के हर बाजार सामान्य दिनों की तरह खुले और सब्जी से लेकर हर जरुरत के समानों की खरीदारों की भीड़ देखने को मिली.

सामाजिक दूरी के नियमों को तोड़कर. हालांकि दिन चढ़ने और कड़ी धूप के बाद सब्जी और फल विक्रेता स्वतः दुकान बंद कर लौट गए. लेकिन कुछ घंटो के लिए दुकानों में उमड़ी भीड़ बता रही थी कि अगर हालात ऐसे ही रहे, तो कोरोना के संक्रमण को फैलने से रोकना संभव नहीं.

इसे भी पढ़ेंः #WorkFromHome के दौरान बढ़ सकती हैं रीढ़ की समस्याएं, बॉडी स्ट्रेच जरूरी

advt

तीन दिन पहले भेजे गये थे ब्लड सैंपल

लॉकडाउन के बीच स्वास्थ विभाग ने तीन दिनों पहले जिन 15 संदिग्ध के ब्लड सैंपल जांच के लिए भेजा था. इसमें सभी रिपोर्ट निगेटिव ही रहे. जिले के गांडेय, ताराटांड समेत अन्य इलाकों के वैसे लोगों के सैंपल लिए गए.

जो तब्लीगी जमात से लौट कर इन इलाकों के मस्जिदों और मदरसों में रह रहे थे. गुरुवार को ही सिविल सर्जन डा. अवद्येश सिन्हा के निर्देश पर जिले के धनवार, जमुआ और देवरी के 15 लोगों के ब्लड सैंपल लेकर जांच के लिए भेजे गये हैं. जिसमें तब्लीगी जमात के साथ अन्य संदिग्ध भी शामिल है.

इसे भी पढ़ेंः बड़ी कार्रवाई :  कम राशन देने के आरोप में रांची के 12 पीडीएस दुकानदार निलंबित

विधायक ने करायी फॉगिंग

फॉगिंग कराते लोग.

लॉकडाउन के 16वें दिन गुरुवार को कोरोना के संक्रमण का फैलाव रोकने को लेकर स्थानीय विधायक सुदिव्य कुमार सोनू ने शहरी क्षेत्र में फांगिग के लिए अपने स्तर से फांगिग मशीन की शुरुआत की.

जो गुरुवार की शाम से शहर के हर इलाकों में फांगिग करेगी. विधायक सोनू के निर्देश पर पानी टैंकरों से शहरी क्षेत्र के सार्वजनिक स्थलों को सेनेटाइज किया जा रहा है. खुद पार्टी के कार्यकर्ता अभय सिंह और कुमार गौरव दोनों इस काम में लगे हैं.

दो पीडीएस दुकानदारों के लाइसेंस रद्द

इधर गुरुवार को जिला आपूर्ति पदाधिकारी सुदेश कुमार को शहर के कुछ राशन डीलरों द्वारा अनाज के कालाबाजारी की शिकायत मिली. जांच में शिकायत सही पायी गयी.

इस आरोप में जीतपुर पंचायत के डीलर दिनेश मुर्मु और पचंबा मोहनपुर के राशन डीलर मकसूद खान के लाईसेंस को तत्काल रद्द कर दिया गया. आपूर्ति पदाधिकारी के अनुसार जिले में अब तक दर्जन भर डीलर के लाईसेंस रद्द किए गए है. जबकि कई डीलर के खिलाफ केस भी दर्ज कराया गया है.

इसे भी पढ़ेंः #Lockdown के बाद 7 दिनों के अंदर अवैध वाटर कनेक्शन को कराना होगा लीगल, वरना हो सकती है कानूनी कार्रवाई

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: