Crime NewsGiridihJharkhand

गिरिडीह: CCL वर्कशॉप से चोरी किया गया स्क्रैप खरीदने-बेचने के आरोप में पूर्व पार्षद समेत 6 गिरफ्तार

Giridih: सीसीएल से चोरी किये गये लोहा खरीदने के आरोप में गिरिडीह के पूर्व वार्ड पार्षद और कबाड़ी संचालक इसराइल अंसारी समेत छह लोगों को मुफ्फसिल थाना पुलिस ने सोमवार को जेल भेज दिया.

गिरफ्तार आरोपियों में कोलडीहा निवासी पूर्व पार्षद इसराइल अंसारी के अलावे बनियाडीह इलाके के कोपा गांव निवासी दीपक दास, मुकेश दास, सीताराम दास, उदय कर्मकार उर्फ उदय प्रसाद, टिंकू दास शामिल हैं.

पुलिस ने पूर्व पार्षद के शहरी क्षेत्र स्थित कोलडीहा के कबाड़ी गोदाम से बड़े पैमाने पर सीसीएल के वर्कशॉप से चोरी गये स्क्रैप को बरामद किया है. बरामद स्क्रैप के मूल्य का पता नहीं चल सका है. लेकिन सदर एसडीपीओ की मानें तो बरामद स्क्रैप का मूल्य लाखों रुपये हो सकता है.

Catalyst IAS
ram janam hospital

इसे भी पढ़ें – शिक्षा मंत्री ने लिया इंटर में एडमिशन, कहा- मात्र दसवीं पास होने के कारण कसा जाता था तंज

The Royal’s
Sanjeevani
Pitambara
Pushpanjali

ऐसे हुई छापेमारी

गुप्त सूचना के आधार पर सदर एसडीपीओ कुमार गौरव और थाना प्रभारी रत्नमोहन ठाकुर ने पुलिस जवानों के साथ रविवार की देर रात पहले पूर्व पार्षद के कबाड़ी गोदाम में छापेमारी की जहां पूर्व पार्षद अपने गोदाम में कोपा गांव के इन लोहा तस्करों द्वारा चोरी के स्क्रैप की खरीदारी कर रहे थे.

छापेमारी के क्रम में ही पुलिस ने इन तस्करों के साथ पूर्व पार्षद को गिरफ्तार किया. वहीं दूसरे दिन सोमवार को पूर्व पार्षद समेत अन्य आरोपियों के निशानदेही पर मुफ्फसिल थाना क्षेत्र के झगरी के गादीनगर निवासी इरशाद अली के ठिकानों पर छापेमारी की गयी तो वहां से सीसीएल के वर्कशॉप से चोरी किये गये तीन हजार किलो का स्क्रैप बरामद हुआ.

हालांकि इरशाद अली फरार होने में सफल रहा. पुलिस के अनुसार पूर्व पार्षद इसराईल अंसारी कोपा के इन चोरों से सीसीएल से चोरी किये गये स्क्रैप खरीद कर इरशाद अली के यहां खपाता था. बीते कई महीनों से दोनों मिलकर अवैध कारोबार कर रहे थे.

इसे भी पढ़ें – झारखंड में 10 अगस्त को 531 नये कोरोना संक्रमित मिले, 11 मौतें, कुल 18786 पॉजिटिव केस

5 Comments

  1. Very good article! We are linking to this particularly great content on our site. Keep up the great writing.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button