GiridihJharkhand

#Giridih: 6 साल की बच्ची के साथ 15 साल के किशोर ने किया दुष्कर्म, चार दिनों बाद होश में आयी पीड़िता

Giridih: गिरिडीह जिले के बेंगाबाद थाना क्षेत्र में छह वर्षीय बच्ची के साथ दुष्कर्म का मामला सामने आया है. पीड़िता की स्थिति बहुत गंभीर बतायी जा रही है. एसडीपीओ कुमार गौरव खुद पूरे मामले की जांच में जुटे हुए हैं.

बच्ची का इलाज चल रहा है. एसडीपीओ के निर्देश पर बेंगाबाद थाना पुलिस ने पीड़ित बच्ची के परिजनों के आवेदन पर एक नाबालिग आरोपी के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है.

पीड़िता की मां द्वारा दिये गये आवेदन के आधार पर पुलिस ने आरोपी पर दुष्कर्म और पोक्सो एक्ट के तहत केस दर्ज किया है. आरोपी घटना के दिन से ही परिवार सहित फरार है. पुलिस उसकी तलाश में लगातार छापेमारी कर रही है.

इसे भी पढ़ें – #JharkhandPolitics : क्या झारखंड भाजपा में बाबूलाल नहीं बन सके सर्वमान्य चेहरा

advt

होश आने पर सामने आया मामला

पीड़ित बच्ची और आरोपी एक ही गांव के हैं और एक-दूसरे के पड़ोसी बताये जा रहे हैं. दुष्कर्म की यह घटना पांच दिन पहले की है. लेकिन शुक्रवार को यह तब सामने आया, जब पीड़ित बच्ची पांच दिनों बाद होश में आयी.

बच्ची ने घटना की जानकारी माता-पिता को दी. इसके बाद परिजन बच्ची को लेकर बेंगाबाद थाना पहुंचे और घटना की जानकारी पुलिस को दी.

एसडीपीओ ने बेंगाबाद पुलिस को बच्ची को मेडिकल जांच के लिए सदर अस्पताल भेजने को कहा जहां जांच के क्रम में काफी हद तक स्पष्ट हुआ कि पीड़ित बच्ची के साथ दुष्कर्म की घटना हुई है.

एसडीपीओ कुमार गौरव ने बताया कि केस दर्ज किया जा चुका है. जल्द ही आरोपी को गिरफ्तार कर लिया जायेगा. उसके हर लोकेशन को खंगाला जा रहा है. किसी सूरत में आरोपी को छोड़ा नहीं जायेगा.

इधर बेंगाबाद के गांव में छह वर्षीय बच्ची के साथ हुए दुष्कर्म की घटना के बाद गांव में भी आरोपी के खिलाफ लोगों में गुस्सा है. ग्रामीणों का यह भी कहना है कि आरोपी की गिरफ्तारी के लिए पुलिस को जिस सहयोग की जरुरत है वह करने को ग्रामीण तैयार हैं.

इसे भी पढ़ें – #Lockdown4.0: रांची में रेस्टोरेंट और मिठाई दुकान से होगी होम डिलीवरी, बैठकर खाने की अनुमति नहीं

ये है घटनाक्रम

जानकारी के अनुसार बीते 18 मई को बच्ची अपने घर से खेलते-खेलते आरोपी के निर्माणाधीन इंदिरा आवास में चली गयी.बताया यह भी जा रहा है कि पड़ोस में होने के कारण अक्सर बच्ची, आरोपी के घर पहुंच जाती थी.

18 मई के दिन बच्ची को घर में देख आरोपी ने घटना को अंजाम दिया और इसके बाद बच्ची को वहीं छोड़ भाग गया. पीड़िता वही बेहोश पड़ी रही. माता-पिता ने ढूंढा तो पड़ोसी के अर्धनिर्मित घर में बेहोश मिली.

वे उसे लेकर शहर के एक नर्सिंग होम में पहुंचे जहां पांच दिनों तक वह बेहोश रही और इलाज जारी रहा. शुक्रवार को जब बच्ची को होश आया, तो घटना की जानकारी माता-पिता को दी.

इसे भी पढ़ें – #Pakistan: लाहौर से कराची जा रहा विमान एयरपोर्ट के पास क्रैश, 90 यात्री थे सवार

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: