NationalUttar-Pradesh

गाजियाबाद: पत्रकार की मौत के बाद शव लेने से परिवार का इनकार, कहा- मुख्य आरोपी को पकड़े पुलिस

Ghaziabad (UP): उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद में एक पत्रकार को कुछ हमलावरों ने उनके घर के पास गोली मार दी थी. जिसके बाद उन्हें गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती कराया गया था. इलाज के दौरान पत्रकार विक्रम जोशी की मौत हो गयी है. विक्रम का इलाज यशोदा अस्पताल में चल रहा था.

इधर, पत्रकार की मौत के बाद परिवार वालों ने शव लेने से इनकार कर दिया है. परिवार की मांग है कि पहले पुलिस घटना में शामिल मुख्य आरोपी को गिरफ्तार करे तभी वो शव को लेंगे.

Catalyst IAS
ram janam hospital
The Royal’s
Pitambara
Pushpanjali
Sanjeevani

गौरतलब है कि भांजी से छेड़छाड़ की शिकायत करने के बाद बदमाशों ने पत्रकार पर हमला किया था और उसे घेरकर गोली मार दी थी. वहीं इस बाबत नौ लोगों को गिरफ्तार किया गया है.

इसे भी पढ़ें- मेनहर्ट घोटाला-5 : जिस काम को ओआरजी चार करोड़ में करता उसे मेनहर्ट ने 22 करोड़ में किया

भांजी से छेड़छाड़ के खिलाफ दर्ज कराई थी शिकायत

स्थानीय अखबार में काम करने वाले विक्रम जोशी ने अपनी भांजी का उत्पीड़न करने के आरोप में कुछ लोगों के खिलाफ 16 जुलाई को विजय नगर पुलिस चौकी में एक शिकायत दर्ज कराई थी. इसके बाद यह हमला हुआ था.

अधिकारियों ने बताया कि 20 जुलाई की रात करीब साढ़े 10 बजे जोशी अपनी दो बेटियों के साथ बाइक से विजय नगर स्थित घर लौट रहे थे, रास्ते में आधा दर्जन से ज्यादा हथियारबंद लोगों ने उनका रास्ता रोक लिया. उन्होंने बताया कि एक आरोपी ने पत्रकार के सिर में गोली मार दी और मौके से भाग गए. जोशी को अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां उनकी इलाज के दौरान मौत हो गयी.

गाजियाबाद के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक कलानिधि नैथानी ने कहा कि प्राथमिकी में नामजद दो व्यक्तियों समेत नौ लोगों को गिरफ्तार किया गया है, जबकि स्थानीय पुलिस चौकी के प्रभारी को निलंबित कर दिया गया है.

इसे भी पढ़ें- बिहार में Corona से अब तक 198 की मौत, मरीजों की संख्या 28.5 हजार के पार

आरोपियों ने दी थी जान से मारने की धमकी

नैथानी ने कहा कि जोशी के भाई अनिकेत जोशी की शिकायत पर भारतीय दंड संहिता की धारा 307 (हत्या की कोशिश), 506 (धमकी देना) और 34 (एक मंशा से कई लोगों द्वारा कृत्य करना) के तहत प्राथमिकी दर्ज की गयी है. उन्होंने बताया कि प्राथमिकी में तीन संदिग्धों—छोटू, आकाश बिहारी और रवि—का नाम है. इसके अलावा प्राथमिकी में कुछ अज्ञात लोगों का भी जिक्र है. छोटू और रवि को गिरफ्तार कर लिया गया है जबकि आकाश को पकड़ने की कोशिश की जा रही है. मामले पर पुलिस की छह टीमें काम कर रही हैं.

नैथानी ने बताया कि पुलिस मामले के सबूतों के आधार पर मोहित, दलबीर, आकाश, योगेंद्र, अभिषेक और शाकिर को गिरफ्तार कर चुकी है. परिवार ने आरोप लगाया कि विजय नगर पुलिस चौकी में दर्ज अपनी शिकायत में जोशी ने छोटू, रवि और आकाश का नाम लिया था. प्राथमिकी में लगाए गए आरोपों के मुताबिक, पत्रकार को आरोपियों ने जान से मारने की धमकी दी थी.

नैथानी ने कहा कि परिवार ने स्थानीय पुलिस चौकी प्रभारी की ओर से अपर्याप्त कार्रवाई का आरोप लगाया है. मामले की गंभीरता को देखते हुए चौकी प्रभारी को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है. विभागीय जांच के आदेश दे दिए गए हैं और स्थानीय क्षेत्र अधिकारी मामले की जांच करेंगे.

इसे भी पढ़ें- सरकार के खिलाफ कुछ बोलने-लिखने की मनाही, गुजरात पुलिस के लिए सख्त गाइडलाइन जारी

6 Comments

  1. I love looking through a post that can make people think. Also, many thanks for permitting me to comment!

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button