न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

‘गाजा’ तूफान के तमिलनाडु में तबाही मचाने की आशंका, हाईअलर्ट पर भारतीय नौसेना

100 किमी/ प्रति घंटे की स्पीड से चलेगी हवाएं

53

New Delhi: बंगाल की खाड़ी पर बने चक्रवाती तूफान ‘गाजा’ के तमिलनाडु में तबाही मचाने की आशंका है. गुरुवार को कुड्डलूर व पम्बान के बीच गाजा दस्तक दे सकता है, जिससे तमिलनाडु में भारी बारिश होने की आशंका है. फिलहाल तूफान बंगाल की खाड़ी पर तमिलनाडु से करीब 380 किलोमीटर दूर दक्षिण पूर्व और नागापट्टिनम से 400 किमी दूर उत्तरी पूर्व में स्थित है. मौसम विभाग का अनुमान है कि इस चक्रवाती तूफान के टकराने के कारण 100 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चल सकती हैं. वही तूफान से होनेवाली तबाही की आशंका को देखते हुए भारतीय नौसेना को अलर्ट पर रखा गया है.

इसे भी पढ़ेंःसत्ता में रहीं भाजपा, आजसू, जेएमएम, कांग्रेस कभी पांचवीं अनुसूची के लिए संजीदा नहीं हुईं : दयामनी बारला

‘गाजा’ तूफान से निपटने की तैयारी

तमिलनाडु सरकार ने तूफान से निपटने के लिए पहले ही 30 हजार 500 राहत-बचाव कर्मी तैनात करने की घोषणा की है. इसके साथ ही तंजौर, तिरुवरुर, पुडुकोट्टई, नागपट्टिनम, कुड्डलूर और रामनाथपुरम के कलेक्टरों ने गुरुवार को स्कूलों और कॉलेजों की छुट्टी घोषित कर दी है. ‘गाजा’ तूफान को देखते हुए पुडुचेरी और कराईकल क्षेत्रों में भी गुरुवार को सभी शिक्षण संस्थान बंद रहेंगे.

अलर्ट पर भारतीय नौसेना

silk_park

भारतीय नौसेना को दक्षिण तमिलनाडु और पुडुचेरी के तटों की ओर बढ़ रहे गाजा चक्रवाती तूफान को देखते हुए हाई अलर्ट कर दिया गया. अधिकारियों ने यह जानकारी दी. नौसेना अधिकारियों ने बताया कि पूर्वी नौसेना कमान (ईएनसी) ने आवश्यक मानवीय सहायता मुहैया कराने के लिए उच्चस्तरीय तैयारी की है.

इसे भी पढ़ेंःदेखें वीडियो : कैसे बीजेपी नेता ने की खुलेआम फायरिंग, फेसबुक पर…

तूफान गुरुवार शाम में दोनों राज्यों के तटीय क्षेत्रों को पार कर सकता है. नौसेना के एक अधिकारी ने बताया कि दो भारतीय नौसैनिक जहाज रणवीर और खंजर मानवीय सहायता और संकट राहत के लिए सबसे अधिक प्रभावित क्षेत्रों में आगे बढ़ने के लिए खड़े हैं. उन्होंने बताया कि इन जहाजों में अतिरिक्त गोताखोर, डॉक्टर, हवा वाली रबड़ की नाव, हेलीकॉप्टर और राहत सामग्री तैयार है.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: